ब्लैक फंगस (करतार न्यूज़ प्रतिनिधि):-कोरोना के बाद अब ब्लैक फंगस राजस्थान राज्य के लिए बड़ी समस्या बन गया है। वर्तमान में, राज्य में लगभग 100 ब्लैक फंगस रोगी हैं अधिकारियों ने बुधवार को कहा कि म्यूकोर्मिकोसिस (ब्लैक फंगस), जो मुख्य रूप से कोविड से उबरने वाले लोगों को प्रभावित कर रहा है, को राजस्थान में महामारी घोषित किया गया है। स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा ने बताया कि सोमवार को राज्य सरकार ने काले फंगस के इलाज में इस्तेमाल होने वाली दवा की 2500 शीशियां खरीदने के आदेश जारी किए थे|वर्तमान में, राज्य में लगभग 100 ब्लैक फंगस रोगी हैं और उनके इलाज के लिए जयपुर के सवाई मान सिंह (एसएमएस) अस्पताल में एक अलग वार्ड बनाया गया है। राज्य के प्रमुख स्वास्थ्य सचिव अखिल अरोड़ा द्वारा जारी अधिसूचना के अनुसार, राजस्थान महामारी अधिनियम 2020 के तहत राज्य में म्यूकोर्मिकोसिस को एक महामारी और एक उल्लेखनीय बीमारी के रूप में अधिसूचित किया गया है। उन्होंने कहा कि ब्लैक फंगस और कोरोनावायरस के एकीकृत और समन्वित उपचार को सुनिश्चित करने के लिए यह कदम उठाया गया था। जानकारों के मुताबिक डायबिटीज से पीड़ित लोगों को ब्लैक फंगस इंफेक्शन होने का खतरा ज्यादा होता है।

कोरोना के बाद ब्लैक फंगस ले रहा खतरनाक रूप।

                                   

ब्लैक फंगस (करतार न्यूज़ प्रतिनिधि):-कोरोना के बाद अब ब्लैक फंगस राजस्थान राज्य के लिए बड़ी समस्या बन गया है। वर्तमान में, राज्य में लगभग 100 ब्लैक फंगस रोगी हैं अधिकारियों ने बुधवार को कहा कि म्यूकोर्मिकोसिस (ब्लैक फंगस), जो मुख्य रूप से कोविड से उबरने वाले लोगों को प्रभावित कर रहा है, को राजस्थान में महामारी घोषित किया गया है। स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा ने बताया कि सोमवार को राज्य सरकार ने काले फंगस के इलाज में इस्तेमाल होने वाली दवा की 2500 शीशियां खरीदने के आदेश जारी किए थे|वर्तमान में, राज्य में लगभग 100 ब्लैक फंगस रोगी हैं और उनके इलाज के लिए जयपुर के सवाई मान सिंह (एसएमएस) अस्पताल में एक अलग वार्ड बनाया गया है। राज्य के प्रमुख स्वास्थ्य सचिव अखिल अरोड़ा द्वारा जारी अधिसूचना के अनुसार, राजस्थान महामारी अधिनियम 2020 के तहत राज्य में म्यूकोर्मिकोसिस को एक महामारी और एक उल्लेखनीय बीमारी के रूप में अधिसूचित किया गया है। उन्होंने कहा कि ब्लैक फंगस और कोरोनावायरस के एकीकृत और समन्वित उपचार को सुनिश्चित करने के लिए यह कदम उठाया गया था। जानकारों के मुताबिक डायबिटीज से पीड़ित लोगों को ब्लैक फंगस इंफेक्शन होने का खतरा ज्यादा होता है।

Comments are closed.

Share This On Social Media!