नई दिल्ली: पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021 ममता बनर्जी, टीएमसी के सुप्रीमो और भाजपा के बीच एक बहुत बड़ा चैलेंज है! प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह भाजपा के लिए एक गहन, उच्च-ऑक्टेन चुनाव अभियान का संचालन कर रहे हैं, ममता बनर्जी ने चैंपियन और प्रशांत किशोर ने टीएमसी के मतदाता को ध्यान में रखते हुए रणनीतिक को एक अलग रूप रेखा दिया है। इस बीच, कांग्रेस, सीपीआईएम के नेतृत्व वाले वामपंथी, और नवगठित भारतीय धर्मनिरपेक्ष मोर्चा (आईएसएफ) 27 मार्च से शुरू हुए आठ चरणीय राज्य विधानसभा चुनावों में भाजपा और टीएमसी दोनों को हराने के लिए सेना में शामिल हो गए हैं। चुनाव आयोग पहले ही घोषित कर चुका है कि तमिलनाडु, असम, केरल और पुडुचेरी में विधानसभा चुनावों की मतगणना पश्चिम बंगाल के अलावा 2 मई को होगी।

ममता बनर्जी के लिए दांव ऊंचे हैं क्योंकि वह भाजपा के खिलाफ अपनी स्थिति मजबूत करना चाहती हैं, जिससे 2019 में लोकसभा चुनावों के दौरान राज्य में महत्वपूर्ण लाभ हुआ। अगर इस बार ममता बनर्जी बीजेपी को हरा कर जित हासिल करती हैं तो वो राज्य की तीसरी बार मुख्यमंत्री बन जाएंगी। अगर बीजेपी राज्य पर नियंत्रण करने की कोशिश करती है, तो यह भगवा खेमे की ऐतिहासिक जीत भी होगी। 2014 में केंद्र में जित हासिल करने के बाद, भाजपा ने हिंदी बेल्ट से परे अपनी पहुंच का विस्तार करने की रणनीति तैयार किया। असम, त्रिपुरा, पूर्वोत्तर राज्य, बंगाल, ओडिशा और केरल सभी राष्ट्रीय स्तर पर सत्तारूढ़ पार्टी के लिए महत्वपूर्ण राज्य बन गए। बंगाल में 42 लोकसभा सीटें हैं, जो तीसरे स्थान पर है उत्तर प्रदेश (80) और महाराष्ट्र (40), (48) से । 2019 के लोकसभा चुनावों में, भाजपा ने 18 सीटें और बंगाल में 40.2 प्रतिशत वोट हासिल किए। भारी जीत से भाजपा को उम्मीद है कि वे 2021 में ममता बनर्जी को हटाएंगे।

ममता बनर्जी के पूर्व विश्वासपात्र जैसे मुकुल रॉय और ताकतवर सुवेंदु अधिकारी जो की अब भाजपा ज्वाइन कर चुके हैं, ये बदलाव के लिए देखा जा सकता है, वही जब ममता बनर्जी ने बंगाली फिल्म उद्योग से अभिनेताओं और अभिनेत्रियों को लेकर ग्लैमर कार्ड खेलने की कोशिश की, तो भाजपा ने आगामी बंगाल विधानसभा चुनावों में अभिनेताओं और अभिनेत्रियों को उम्मीदवार के रूप में जवाब दिया।

please visit us for more

कौन जीतेगा 2021 में बंगाल इलेक्शन, और कौन से फैक्टर ममता बनर्जी या बीजेपी के लिए होंगे मद्दतगार ?

                                   

नई दिल्ली: पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021 ममता बनर्जी, टीएमसी के सुप्रीमो और भाजपा के बीच एक बहुत बड़ा चैलेंज है! प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह भाजपा के लिए एक गहन, उच्च-ऑक्टेन चुनाव अभियान का संचालन कर रहे हैं, ममता बनर्जी ने चैंपियन और प्रशांत किशोर ने टीएमसी के मतदाता को ध्यान में रखते हुए रणनीतिक को एक अलग रूप रेखा दिया है। इस बीच, कांग्रेस, सीपीआईएम के नेतृत्व वाले वामपंथी, और नवगठित भारतीय धर्मनिरपेक्ष मोर्चा (आईएसएफ) 27 मार्च से शुरू हुए आठ चरणीय राज्य विधानसभा चुनावों में भाजपा और टीएमसी दोनों को हराने के लिए सेना में शामिल हो गए हैं। चुनाव आयोग पहले ही घोषित कर चुका है कि तमिलनाडु, असम, केरल और पुडुचेरी में विधानसभा चुनावों की मतगणना पश्चिम बंगाल के अलावा 2 मई को होगी।

ममता बनर्जी के लिए दांव ऊंचे हैं क्योंकि वह भाजपा के खिलाफ अपनी स्थिति मजबूत करना चाहती हैं, जिससे 2019 में लोकसभा चुनावों के दौरान राज्य में महत्वपूर्ण लाभ हुआ। अगर इस बार ममता बनर्जी बीजेपी को हरा कर जित हासिल करती हैं तो वो राज्य की तीसरी बार मुख्यमंत्री बन जाएंगी। अगर बीजेपी राज्य पर नियंत्रण करने की कोशिश करती है, तो यह भगवा खेमे की ऐतिहासिक जीत भी होगी। 2014 में केंद्र में जित हासिल करने के बाद, भाजपा ने हिंदी बेल्ट से परे अपनी पहुंच का विस्तार करने की रणनीति तैयार किया। असम, त्रिपुरा, पूर्वोत्तर राज्य, बंगाल, ओडिशा और केरल सभी राष्ट्रीय स्तर पर सत्तारूढ़ पार्टी के लिए महत्वपूर्ण राज्य बन गए। बंगाल में 42 लोकसभा सीटें हैं, जो तीसरे स्थान पर है उत्तर प्रदेश (80) और महाराष्ट्र (40), (48) से । 2019 के लोकसभा चुनावों में, भाजपा ने 18 सीटें और बंगाल में 40.2 प्रतिशत वोट हासिल किए। भारी जीत से भाजपा को उम्मीद है कि वे 2021 में ममता बनर्जी को हटाएंगे।

ममता बनर्जी के पूर्व विश्वासपात्र जैसे मुकुल रॉय और ताकतवर सुवेंदु अधिकारी जो की अब भाजपा ज्वाइन कर चुके हैं, ये बदलाव के लिए देखा जा सकता है, वही जब ममता बनर्जी ने बंगाली फिल्म उद्योग से अभिनेताओं और अभिनेत्रियों को लेकर ग्लैमर कार्ड खेलने की कोशिश की, तो भाजपा ने आगामी बंगाल विधानसभा चुनावों में अभिनेताओं और अभिनेत्रियों को उम्मीदवार के रूप में जवाब दिया।

please visit us for more

Comments are closed.

Share This On Social Media!