Last updated on May 12th, 2021 at 11:34 am

भारतीय वायुसेना ने कहा कि बेड़े में मध्य हवा में ईंधन भरने की व्यवस्था फ्रांस और संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) की वायु सेनाओं द्वारा की गई थी ।
“फ्रांस के #MerignacAirBase से सीधी नौका के बाद 21 अप्रैल को रफाल्स का 5वां जत्था भारत पहुंचा । सेनानियों ने @Armee_de_lair और संयुक्त अरब अमीरात के वायु सेना द्वारा हवा से हवा में ईंधन भरने के समर्थन से लगभग 8,000 किलोमीटर की दूरी तय की । भारतीय वायुसेना ने ट्वीट कर कहा, भारतीय वायुसेना ने दोनों वायु सेनाओं को उनके सहयोग के लिए धन्यवाद दिया ।इससे पहले विमान को फ्रांस के मेरिग्नाक एयरबेस से वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया था, जो फ्रांस के दौरे पर हैं।

भारतीय वायुसेना प्रमुख ने यूरोपीय देश की अपनी पांच दिवसीय यात्रा के तीसरे दिन राफेल विमान प्रशिक्षण केंद्र का भी दौरा किया।
फ्रांस के आधिकारिक दौरे पर वायु सेना प्रमुख मधल आरकेएस भदौरिया ने पायलटों की सराहना की और फ्रांसीसी वायु सेना और संयुक्त अरब अमीरात द्वारा मध्य हवाई ईंधन भरने के साथ भारत के लिए नॉन स्टॉप उड़ान पर राफेल्स के अगले बैच को देखा । फ्रांस में भारतीय दूतावास ने ट्विटर पर लिखा, सहविद के बावजूद समय पर डिलीवरी और पायलट प्रशिक्षण के लिए फ्रांस ईएसपी एफएएसएफ और फ्रांसीसी उद्योग का शुक्रिया ।

फ्रांस से उड़ान भरने के बाद बिना रुके भारत पहुंचा राफेल लड़ाकू विमानों का 5वां जत्था

                                   

Last updated on May 12th, 2021 at 11:34 am

भारतीय वायुसेना ने कहा कि बेड़े में मध्य हवा में ईंधन भरने की व्यवस्था फ्रांस और संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) की वायु सेनाओं द्वारा की गई थी ।
“फ्रांस के #MerignacAirBase से सीधी नौका के बाद 21 अप्रैल को रफाल्स का 5वां जत्था भारत पहुंचा । सेनानियों ने @Armee_de_lair और संयुक्त अरब अमीरात के वायु सेना द्वारा हवा से हवा में ईंधन भरने के समर्थन से लगभग 8,000 किलोमीटर की दूरी तय की । भारतीय वायुसेना ने ट्वीट कर कहा, भारतीय वायुसेना ने दोनों वायु सेनाओं को उनके सहयोग के लिए धन्यवाद दिया ।इससे पहले विमान को फ्रांस के मेरिग्नाक एयरबेस से वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया था, जो फ्रांस के दौरे पर हैं।

भारतीय वायुसेना प्रमुख ने यूरोपीय देश की अपनी पांच दिवसीय यात्रा के तीसरे दिन राफेल विमान प्रशिक्षण केंद्र का भी दौरा किया।
फ्रांस के आधिकारिक दौरे पर वायु सेना प्रमुख मधल आरकेएस भदौरिया ने पायलटों की सराहना की और फ्रांसीसी वायु सेना और संयुक्त अरब अमीरात द्वारा मध्य हवाई ईंधन भरने के साथ भारत के लिए नॉन स्टॉप उड़ान पर राफेल्स के अगले बैच को देखा । फ्रांस में भारतीय दूतावास ने ट्विटर पर लिखा, सहविद के बावजूद समय पर डिलीवरी और पायलट प्रशिक्षण के लिए फ्रांस ईएसपी एफएएसएफ और फ्रांसीसी उद्योग का शुक्रिया ।

Comments are closed.

Share This On Social Media!