ठाणे (महाराष्ट्र) के प्राइम क्रिटीकेयर अस्पताल में बुधवार सुबह आग लगने की घटना में 4 मरीज़ों की मौत हो गई। ठाणे महानगरपालिका ने बताया कि अस्पताल में तड़के 03:40 बजे आग लगी थी और मरीज़ों को दूसरे अस्पताल में शिफ्ट करने के दौरान 4 मौतें हुईं। दमकल विभाग के 2 वाहन आग बुझाने के काम में जुटे हुए हैं।महाराष्ट्र के ठाणे के पास एक निजी अस्पताल में बुधवार सुबह आग लगने से चार मरीजों की मौत हो गई।

ठाणे के पास मुंब्रा इलाके के कौसा स्थित प्रधान क्रिटिकेर अस्पताल में सुबह 3.40 बजे आग लग गई। अधिकारियों के मुताबिक अस्पताल में कोरोनावायरस के मरीज नहीं थे।तीन फायर इंजन और पांच एंबुलेंस को मौके पर रवाना किया गया और आग बुझा ली गई है । इंटेंसिव केयर यूनिट में छह सहित बीस मरीजों को बाहर निकाला गया लेकिन मरीजों को दूसरे अस्पताल में शिफ्ट करते समय चार लोगों की मौत हो गई ।

मुंबई पुलिस के इंस्पेक्टर मधुकर शिवाजी काड ने घटना के बारे में बताते हुए कहा, आग में चार लोगों की मौत हो गई है लेकिन पोस्टमॉर्टम के जरिए मौत के कारणों का पता लगाया जाएगा। शुरुआत में हमें सूचना मिली थी कि अस्पताल के अंदर 12 लोग हैं लेकिन संख्या अलग-अलग हो सकती है। पुलिस जांच कर कार्रवाई की जाएगी।

स्थानीय विधायक और महाराष्ट्र के मंत्री जितेंद्र औदि ने बताया कि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को हादसे की जानकारी दे दी गई है।उन्होंने कहा कि प्रत्येक मृतक के परिवार को 5 लाख रुपये का मुआवजा दिया जाएगा और घायलों को एक-एक लाख रुपये मिलेंगे ।

 

महाराष्ट्र के अस्पताल में तड़के 03:40 बजे लगी आग, 4 मरीज़ों की हुई मौत

                                   

ठाणे (महाराष्ट्र) के प्राइम क्रिटीकेयर अस्पताल में बुधवार सुबह आग लगने की घटना में 4 मरीज़ों की मौत हो गई। ठाणे महानगरपालिका ने बताया कि अस्पताल में तड़के 03:40 बजे आग लगी थी और मरीज़ों को दूसरे अस्पताल में शिफ्ट करने के दौरान 4 मौतें हुईं। दमकल विभाग के 2 वाहन आग बुझाने के काम में जुटे हुए हैं।महाराष्ट्र के ठाणे के पास एक निजी अस्पताल में बुधवार सुबह आग लगने से चार मरीजों की मौत हो गई।

ठाणे के पास मुंब्रा इलाके के कौसा स्थित प्रधान क्रिटिकेर अस्पताल में सुबह 3.40 बजे आग लग गई। अधिकारियों के मुताबिक अस्पताल में कोरोनावायरस के मरीज नहीं थे।तीन फायर इंजन और पांच एंबुलेंस को मौके पर रवाना किया गया और आग बुझा ली गई है । इंटेंसिव केयर यूनिट में छह सहित बीस मरीजों को बाहर निकाला गया लेकिन मरीजों को दूसरे अस्पताल में शिफ्ट करते समय चार लोगों की मौत हो गई ।

मुंबई पुलिस के इंस्पेक्टर मधुकर शिवाजी काड ने घटना के बारे में बताते हुए कहा, आग में चार लोगों की मौत हो गई है लेकिन पोस्टमॉर्टम के जरिए मौत के कारणों का पता लगाया जाएगा। शुरुआत में हमें सूचना मिली थी कि अस्पताल के अंदर 12 लोग हैं लेकिन संख्या अलग-अलग हो सकती है। पुलिस जांच कर कार्रवाई की जाएगी।

स्थानीय विधायक और महाराष्ट्र के मंत्री जितेंद्र औदि ने बताया कि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को हादसे की जानकारी दे दी गई है।उन्होंने कहा कि प्रत्येक मृतक के परिवार को 5 लाख रुपये का मुआवजा दिया जाएगा और घायलों को एक-एक लाख रुपये मिलेंगे ।

 

Comments are closed.

Share This On Social Media!