लखनऊ: प्रदेश में कोरोना संक्रमण के मामले बड़ी तेजी के साथ बढ़ रहे हैं प्रदेश में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा अब हर रोज 5 हजार के पार आने लगा है। वहीं प्रशासन ने भी सख्ती बरतनी शुरू कर दी है। इसी कड़ी में राजधानी लखनऊ के रेलवे स्टेशन पर डॉक्टरों की टीम लगातार जांच कर रही है। पिछले साल की तरह इस बार भी लॉकडाउन का डर लोगों को सताने लगा है जिसके बाद अब कई राज्यों से लोग अपने घरों की ओर वापस लौटने लगे हैं, तो वही अब एक बार फिर रेलवे स्टेशन और बस स्टेशन पर लोगों की लंबी लाइने लगने लगी हैं। आने वाले यात्रियों की थर्मल स्कैनिंग और कोरोना की जांच की जा रही है। कोरोना पॉजिटिव पाए जाने पर मरीज को एंबुलेंस से अस्पताल भेजा जा रहा है।

लगातार मरीजों के बढ़ने से स्थितिया बेकाबू होती नजर आ रही हैं जिसके चलते अंतिम संस्कार करने के लिए भी लोगो को लाइन लगाना पड़ रहा है तो वहीं कब्रिस्तानो की बात करें तो वहां भी शव को दफनाने के लिए जगह नही मिल रही है जिस कब्रिस्तान में जहां 1-2 शव जाते थे कोरोना की वजह से वहां इसका आंकड़ा करीब 20 पहुँच गया है| वही कई जिलों में तो शवों के दाह संस्कार के लिए घाटों पर भी लम्बी लाइन लगानी पड़ रही है|

गौरतलब है की देश के अन्य राज्यों की तरह उत्तर प्रदेश में भी कोरोना का कहर बड़ी तेजी से बढ़ता ही जा रहा है। कोरोना का प्रकोप बड़े शहरों में अधिक दिखाई दे रहा है। लखनऊ, कानपुर, वाराणसी, प्रयागराज और गोरखपुर जैसे शहरों में रोज का आंकड़ा पिछला रिकॉर्ड तोड़ रहा है। जिसका संज्ञान लेते हुए इलाहाबाद हाईकोर्ट ने योगी सरकार को कोरोना संक्रमण से अधिक प्रभावित प्रदेश के शहरों में दो या तीन सप्ताह के लिए पूर्ण लॉकडाउन लगाने पर विचार करने का निर्देश दिया है।

उत्तर प्रदेश के इन जिलों में कोरोना संक्रमण का कहर

                                   

लखनऊ: प्रदेश में कोरोना संक्रमण के मामले बड़ी तेजी के साथ बढ़ रहे हैं प्रदेश में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा अब हर रोज 5 हजार के पार आने लगा है। वहीं प्रशासन ने भी सख्ती बरतनी शुरू कर दी है। इसी कड़ी में राजधानी लखनऊ के रेलवे स्टेशन पर डॉक्टरों की टीम लगातार जांच कर रही है। पिछले साल की तरह इस बार भी लॉकडाउन का डर लोगों को सताने लगा है जिसके बाद अब कई राज्यों से लोग अपने घरों की ओर वापस लौटने लगे हैं, तो वही अब एक बार फिर रेलवे स्टेशन और बस स्टेशन पर लोगों की लंबी लाइने लगने लगी हैं। आने वाले यात्रियों की थर्मल स्कैनिंग और कोरोना की जांच की जा रही है। कोरोना पॉजिटिव पाए जाने पर मरीज को एंबुलेंस से अस्पताल भेजा जा रहा है।

लगातार मरीजों के बढ़ने से स्थितिया बेकाबू होती नजर आ रही हैं जिसके चलते अंतिम संस्कार करने के लिए भी लोगो को लाइन लगाना पड़ रहा है तो वहीं कब्रिस्तानो की बात करें तो वहां भी शव को दफनाने के लिए जगह नही मिल रही है जिस कब्रिस्तान में जहां 1-2 शव जाते थे कोरोना की वजह से वहां इसका आंकड़ा करीब 20 पहुँच गया है| वही कई जिलों में तो शवों के दाह संस्कार के लिए घाटों पर भी लम्बी लाइन लगानी पड़ रही है|

गौरतलब है की देश के अन्य राज्यों की तरह उत्तर प्रदेश में भी कोरोना का कहर बड़ी तेजी से बढ़ता ही जा रहा है। कोरोना का प्रकोप बड़े शहरों में अधिक दिखाई दे रहा है। लखनऊ, कानपुर, वाराणसी, प्रयागराज और गोरखपुर जैसे शहरों में रोज का आंकड़ा पिछला रिकॉर्ड तोड़ रहा है। जिसका संज्ञान लेते हुए इलाहाबाद हाईकोर्ट ने योगी सरकार को कोरोना संक्रमण से अधिक प्रभावित प्रदेश के शहरों में दो या तीन सप्ताह के लिए पूर्ण लॉकडाउन लगाने पर विचार करने का निर्देश दिया है।

Comments are closed.

Share This On Social Media!