kartar news

छत्तीसगढ़ के बीजापुर मे अप्रहत ASI मुरली ताती की नक्सलियों द्वारा हत्या कर दी गयी है। छत्तीसगढ़ पुलिस मे कार्यरत मुरली ताती का नक्सलियों द्वारा गंगालूर के पालनार इलाके से चार दिन पहले अपहरण किया गया था। वह छुट्टी पर थे तथा यहाँ मेले मे आए थे। उनका शव संदिग्ध अवस्था मे कुमसुम पारा इलाके मे मिला है। यह इलाका नक्सलीय गतिविधियों के लिए कुख्यात है।

मुरली ताती के शव के पास से एक पर्चा भी मिला है, जिसमे यह बताया गया है कि पुलिस मे भर्ती होने से पहले ताती खुद एक नक्सली थे और वह साल 2006 से सलवा जुडूम नामक एक नक्सली दल का हिस्सा थे।

उक्त पर्चे के अनुसार, “मुरली ताती ने पुलिस मे भर्ती होने का बाद निर्दोष आदिवासी गाँव वालों को मारा तथा उनके संसाधन लूट लिए। उन्हे गद्दार करार दिया गया इसलिए उन्हे जान से मारा गया।“

इसी बीच मुरली ताती के अपहरण के बाद उनकी पत्नी का एक विडियो सामने आया था जिसमे वो अपने नवजात बच्चे को गोद मे लिए हुये कह रही हैं, “मैं पिछले तीन दिनो से पता कर रही हूँ कि मेरे पति कहाँ हैं, अचानक ये खबर आई कि उनका अपहरण हो गया है तो मैं इस गाँव आई हूँ। मैं माओवादियों से अपील करती हूँ कि उनको छोड़ दें, उनका मानसिक संतुलन ठीक नही है और उनका इलाज चल रहा है।“

वहीं दूसरी तरफ बीजापुर के SP कमललोचन कश्यप ने कहा, “ASI मुरली ताती की तलाश मे टीमें लगाई गयी हैं। उनकी निशानदेही पर नक्सलियों के खिलाफ कई अभियानों मे पुलिस को भारी सफलता प्राप्त हुई थी, इसलिए वह नक्सलियों की हिट लिस्ट पर थे।“

छत्तीसगढ़: अपहरण के बाद नक्सलियों ने की ASI की हत्या, पत्नी लगाती रही गुहार

                                   

kartar news

छत्तीसगढ़ के बीजापुर मे अप्रहत ASI मुरली ताती की नक्सलियों द्वारा हत्या कर दी गयी है। छत्तीसगढ़ पुलिस मे कार्यरत मुरली ताती का नक्सलियों द्वारा गंगालूर के पालनार इलाके से चार दिन पहले अपहरण किया गया था। वह छुट्टी पर थे तथा यहाँ मेले मे आए थे। उनका शव संदिग्ध अवस्था मे कुमसुम पारा इलाके मे मिला है। यह इलाका नक्सलीय गतिविधियों के लिए कुख्यात है।

मुरली ताती के शव के पास से एक पर्चा भी मिला है, जिसमे यह बताया गया है कि पुलिस मे भर्ती होने से पहले ताती खुद एक नक्सली थे और वह साल 2006 से सलवा जुडूम नामक एक नक्सली दल का हिस्सा थे।

उक्त पर्चे के अनुसार, “मुरली ताती ने पुलिस मे भर्ती होने का बाद निर्दोष आदिवासी गाँव वालों को मारा तथा उनके संसाधन लूट लिए। उन्हे गद्दार करार दिया गया इसलिए उन्हे जान से मारा गया।“

इसी बीच मुरली ताती के अपहरण के बाद उनकी पत्नी का एक विडियो सामने आया था जिसमे वो अपने नवजात बच्चे को गोद मे लिए हुये कह रही हैं, “मैं पिछले तीन दिनो से पता कर रही हूँ कि मेरे पति कहाँ हैं, अचानक ये खबर आई कि उनका अपहरण हो गया है तो मैं इस गाँव आई हूँ। मैं माओवादियों से अपील करती हूँ कि उनको छोड़ दें, उनका मानसिक संतुलन ठीक नही है और उनका इलाज चल रहा है।“

वहीं दूसरी तरफ बीजापुर के SP कमललोचन कश्यप ने कहा, “ASI मुरली ताती की तलाश मे टीमें लगाई गयी हैं। उनकी निशानदेही पर नक्सलियों के खिलाफ कई अभियानों मे पुलिस को भारी सफलता प्राप्त हुई थी, इसलिए वह नक्सलियों की हिट लिस्ट पर थे।“

Comments are closed.

Share This On Social Media!