Last updated on May 12th, 2021 at 11:45 am

रेल मंत्रालय ने मध्य रेलवे के एक कर्मचारी मयूर शेल्के के लिए 50,000 रुपये के पुरस्कार की घोषणा की है, जिसने अपनी जान जोखिम में डालकर छह साल के लड़के को बचाया था।रेलवे बोर्ड के प्रधान कार्यकारी निदेशक ने शेलके की बहादुरी, साहस और मन की उपस्थिति के लिए पुरस्कार के बारे में एक पत्र द्वारा मध्य रेलवे के महाप्रबंधक को सूचित किया ।

पत्र में कहा गया है, “अपने जीवन की पूर्ण अवहेलना में शेल्के ने आनेवाली ट्रेन के सामने दौड़ते हुए बच्चे को बचाया और बच्चे को प्लेटफॉर्म पर रखकर सुरक्षा के लिए उठा लिया ।

यह घटना मुंबई के पास वनगनी स्टेशन पर हुई, जहां श्री शेल्के 17 अप्रैल को पॉइंटमैन के रूप में तैनात हैं ।शेल्के ने एक लड़का देखा जो पटरियों पर गिर गया था और एक आनेवाला ट्रेन के रास्ते में था ।वह नीचे कूद गया, लड़के की ओर भागा और खुद को खींचने से पहले उसे मंच पर घसीटा । दो सेकंड बाद ट्रेन पास्ट उड़ गई ।दिल रोके जाने वाली इस घटना का सीसीटीवी फुटेज सोशल मीडिया पर वायरल हो गया।मध्य रेलवे के अधिकारी पहले ही शेके को बहादुरी के कार्य के लिए सम्मानित कर चुके हैं ।

ट्रेन के गुज़रने से कुछ सेकेंड पहले बच्चे को बचाने वाले रेलकर्मी को पुरस्कृत करेगा रेलवे

                                   

Last updated on May 12th, 2021 at 11:45 am

रेल मंत्रालय ने मध्य रेलवे के एक कर्मचारी मयूर शेल्के के लिए 50,000 रुपये के पुरस्कार की घोषणा की है, जिसने अपनी जान जोखिम में डालकर छह साल के लड़के को बचाया था।रेलवे बोर्ड के प्रधान कार्यकारी निदेशक ने शेलके की बहादुरी, साहस और मन की उपस्थिति के लिए पुरस्कार के बारे में एक पत्र द्वारा मध्य रेलवे के महाप्रबंधक को सूचित किया ।

पत्र में कहा गया है, “अपने जीवन की पूर्ण अवहेलना में शेल्के ने आनेवाली ट्रेन के सामने दौड़ते हुए बच्चे को बचाया और बच्चे को प्लेटफॉर्म पर रखकर सुरक्षा के लिए उठा लिया ।

यह घटना मुंबई के पास वनगनी स्टेशन पर हुई, जहां श्री शेल्के 17 अप्रैल को पॉइंटमैन के रूप में तैनात हैं ।शेल्के ने एक लड़का देखा जो पटरियों पर गिर गया था और एक आनेवाला ट्रेन के रास्ते में था ।वह नीचे कूद गया, लड़के की ओर भागा और खुद को खींचने से पहले उसे मंच पर घसीटा । दो सेकंड बाद ट्रेन पास्ट उड़ गई ।दिल रोके जाने वाली इस घटना का सीसीटीवी फुटेज सोशल मीडिया पर वायरल हो गया।मध्य रेलवे के अधिकारी पहले ही शेके को बहादुरी के कार्य के लिए सम्मानित कर चुके हैं ।

Comments are closed.

Share This On Social Media!