झांसी। पंचयात चुनाव को लेकर हर तरफ त्यारियां ज़ोरो पर हैं, तो वही झाँसी से एक ऐसा प्रत्यासी सामने आया जिसने सबका ध्यान अपनी और कर लिया है| बीहड़ में 18 साल गुजारने और 14 साल जेल की सलाखों में गुजारने के बाद न्यायालय से कई मामलों में बरी होकर जनता की सेवा करने के लिए तन मन से तैयार बागी रहे धन सिंह दाऊ ने अपनी पत्नी को जिला पंचायत सदस्य पद के लिए मैदान में उतारा है। धनसिंह दाऊ छेंवता की पत्नी रानी देवी रायकवार ने चुनावी मैदान में ताल ठोकतीं हुईं नजर आ रही है। रानी देवी अपने वक्त की सबसे बड़े बागी धन सिंह दाऊ छेनवता की पत्नी है।

बता दें की धन सिंह पर करीब एक सेंकडा से अधिक मुकदमे दर्ज थे। फिलहाल न्यायालय ने उन्हें बरी कर दिया। धन सिंह ने बताया कि उन्होंने समाज के उत्पीड़न को बचाने के लिए बन्दूक लेकर बीहड़ में कूदे थे। अपने समाज के दबे कुचले लोगों को दबंग बदमाशों से बचाने के लिए करीब 18 वर्ष बीहड़ में गुजार दिए। इस दौरान उन्होंने कईयों बार पुलिस से सामना किया। धन सिंह का कहना है कि अपने समाज और गांव के लोगों का उनकी सेवा करने पर आशीर्वाद और दुआए रही की उन्हे कुछ नहीं हुआ। उन्होंने बताया कि उनके उपर 90 से अधिक मुकदमें दर्ज थे और करीब 14 साल जेल में बिताने के बाद अधिकतर मामलों में न्यायालय ने उन्हें बरी कर दिया।

धन सिंह का कहना है कि वो समय दूसरा था जब उन्हें जुल्म और अत्याचार से अपने समाज और गांव के लोगों को बचाने के लिए बन्दूक थाम कर बीहड़ में उतरना पड़ा था। लेकिन अब समय बदल गया है, अब समाज की सेवा करने के लिए उन्होंने राजनीति चुनी। धन सिंह और उनका परिवार इन दिनों एक आम किसान की जिंदगी गुजर बसर कर रहे। धन सिंह कि पत्नी रानी देवी रायकवार वार्ड क्रमांक 8 फुटेरा क्षेत्र से पंचायत सदस्य का चुनाव लड रही और उनका चुनाव चिन्ह कैंची है। अपनी पत्नी को जीत दिलाने के लिए धन सिंह लगातार अपने क्षेत्र में भ्रमण कर आम जनता और ग्रामीणों से हाथ जोड़ कर अपील कर रहे कि उन्हें अब जनता की सेवा करना है और जनता उन्हें एक बार सेवा करने का मौका दे।

इस प्रत्याशी ने खींच लिया सबका ध्यान, पढ़ें पूरा मामला

                                   

झांसी। पंचयात चुनाव को लेकर हर तरफ त्यारियां ज़ोरो पर हैं, तो वही झाँसी से एक ऐसा प्रत्यासी सामने आया जिसने सबका ध्यान अपनी और कर लिया है| बीहड़ में 18 साल गुजारने और 14 साल जेल की सलाखों में गुजारने के बाद न्यायालय से कई मामलों में बरी होकर जनता की सेवा करने के लिए तन मन से तैयार बागी रहे धन सिंह दाऊ ने अपनी पत्नी को जिला पंचायत सदस्य पद के लिए मैदान में उतारा है। धनसिंह दाऊ छेंवता की पत्नी रानी देवी रायकवार ने चुनावी मैदान में ताल ठोकतीं हुईं नजर आ रही है। रानी देवी अपने वक्त की सबसे बड़े बागी धन सिंह दाऊ छेनवता की पत्नी है।

बता दें की धन सिंह पर करीब एक सेंकडा से अधिक मुकदमे दर्ज थे। फिलहाल न्यायालय ने उन्हें बरी कर दिया। धन सिंह ने बताया कि उन्होंने समाज के उत्पीड़न को बचाने के लिए बन्दूक लेकर बीहड़ में कूदे थे। अपने समाज के दबे कुचले लोगों को दबंग बदमाशों से बचाने के लिए करीब 18 वर्ष बीहड़ में गुजार दिए। इस दौरान उन्होंने कईयों बार पुलिस से सामना किया। धन सिंह का कहना है कि अपने समाज और गांव के लोगों का उनकी सेवा करने पर आशीर्वाद और दुआए रही की उन्हे कुछ नहीं हुआ। उन्होंने बताया कि उनके उपर 90 से अधिक मुकदमें दर्ज थे और करीब 14 साल जेल में बिताने के बाद अधिकतर मामलों में न्यायालय ने उन्हें बरी कर दिया।

धन सिंह का कहना है कि वो समय दूसरा था जब उन्हें जुल्म और अत्याचार से अपने समाज और गांव के लोगों को बचाने के लिए बन्दूक थाम कर बीहड़ में उतरना पड़ा था। लेकिन अब समय बदल गया है, अब समाज की सेवा करने के लिए उन्होंने राजनीति चुनी। धन सिंह और उनका परिवार इन दिनों एक आम किसान की जिंदगी गुजर बसर कर रहे। धन सिंह कि पत्नी रानी देवी रायकवार वार्ड क्रमांक 8 फुटेरा क्षेत्र से पंचायत सदस्य का चुनाव लड रही और उनका चुनाव चिन्ह कैंची है। अपनी पत्नी को जीत दिलाने के लिए धन सिंह लगातार अपने क्षेत्र में भ्रमण कर आम जनता और ग्रामीणों से हाथ जोड़ कर अपील कर रहे कि उन्हें अब जनता की सेवा करना है और जनता उन्हें एक बार सेवा करने का मौका दे।

Comments are closed.

Share This On Social Media!