नवी मुंबई से ताल्लुक रखने वाले अंतर्राष्ट्रीय बॉडी बिल्डर जगदीश लाड (34) का कोविड-19 संक्रमण से वडोदरा (गुजरात) में निधन हो गया है। जगदीश एक अस्पताल में पिछले 4 दिनों से ऑक्सीजन सपोर्ट पर थे। उन्होंने कई बॉडी बिल्डिंग प्रतियोगिताओं में अपने गृह राज्य महाराष्ट्र और भारत का प्रतिनिधित्व किया था और ‘मिस्टर इंडिया’ प्रतियोगिता में सिल्वर मेडल जीता था।भारतीय खेल जगत में उस वक्त शोक की लहर फैल गई, जब इंटरनैशनल बॉडीबिल्डर और मिस्टर इंडिया रहे जगदीश लाड (International bodybuilder Jagdish Lad dies from Covid-19) का शुक्रवार को वडोदरा में कोरोना वायरस से निधन हो गया। जगदीश लाड महज 34 वर्ष के थे। यह मुस्कुराता चेहरा तमाम बाधाओं को लांघकर इंटरनैशनल बॉडीबिल्डिंग में अहम मुकाम पर पर पहुंचा था, लेकिन महमारी से जिंदगी की जंग हार गया।

कोरोना से संक्रमित होने के बाद जगदीश लाड को चार दिनों तक ऑक्सिजन पर रखा गया था, लेकिन वे कोरोना को मात नहीं दे सके। जगदीश लाड 90 किलोग्राम भार वर्ग में भाग लेते थे। जगदीश कुछ साल पहले नवी मुंबई से वडोदरा चले गए थे। यहां उन्होंने जिम की शुरुआत की थी। वह मूल रूप से महाराष्ट्र के सांगली जिले के कुंडल गांव के थे।

अंतर्राष्ट्रीय बॉडी बिल्डर जगदीश लाड का कोविड-19 के कारण 34 साल की उम्र में निधन

                                   

नवी मुंबई से ताल्लुक रखने वाले अंतर्राष्ट्रीय बॉडी बिल्डर जगदीश लाड (34) का कोविड-19 संक्रमण से वडोदरा (गुजरात) में निधन हो गया है। जगदीश एक अस्पताल में पिछले 4 दिनों से ऑक्सीजन सपोर्ट पर थे। उन्होंने कई बॉडी बिल्डिंग प्रतियोगिताओं में अपने गृह राज्य महाराष्ट्र और भारत का प्रतिनिधित्व किया था और ‘मिस्टर इंडिया’ प्रतियोगिता में सिल्वर मेडल जीता था।भारतीय खेल जगत में उस वक्त शोक की लहर फैल गई, जब इंटरनैशनल बॉडीबिल्डर और मिस्टर इंडिया रहे जगदीश लाड (International bodybuilder Jagdish Lad dies from Covid-19) का शुक्रवार को वडोदरा में कोरोना वायरस से निधन हो गया। जगदीश लाड महज 34 वर्ष के थे। यह मुस्कुराता चेहरा तमाम बाधाओं को लांघकर इंटरनैशनल बॉडीबिल्डिंग में अहम मुकाम पर पर पहुंचा था, लेकिन महमारी से जिंदगी की जंग हार गया।

कोरोना से संक्रमित होने के बाद जगदीश लाड को चार दिनों तक ऑक्सिजन पर रखा गया था, लेकिन वे कोरोना को मात नहीं दे सके। जगदीश लाड 90 किलोग्राम भार वर्ग में भाग लेते थे। जगदीश कुछ साल पहले नवी मुंबई से वडोदरा चले गए थे। यहां उन्होंने जिम की शुरुआत की थी। वह मूल रूप से महाराष्ट्र के सांगली जिले के कुंडल गांव के थे।

Comments are closed.

Share This On Social Media!