kartar news

दिल्ली स्थित महाराजा अग्रसेन अस्पताल द्वारा दायर आक्सीजन सप्लाई की याचिका पर सुनवाई करते हुये दिल्ली हाईकोर्ट ने सख्त रुख दिखाया।  हाईकोर्ट ने दिल्ली सरकार से कहा – “केंद्र, राज्य या स्थानीय प्रसाशन से यदि कोई अधिकारी आक्सीजन की आपूर्ति मे बाधा पहुंचा रहा है तो कोर्ट उसे फाँसी पर चढ़ा देगा।“ जस्टिस विपिन सांघी और जस्टिस रेखा पल्ली की बेंच ने सुनवाई के दौरान ये टिप्पणी की।

सुनवाई के दौरान कोर्ट ने दिल्ली के हालातों पर चिंता व्यक्त करते हुये दिल्ली सरकार को भी जल्द से जल्द आक्सीजन की सप्लाई करने का आदेश दिया। दिल्ली सरकार की तरफ से पेश हुये वरिष्ठ वकील राहुल मेहरा ने कोर्ट को बताया की दिल्ली के लिए 480 मीट्रिक टन आक्सीजन का आवंटन केंद्र सरकार द्वारा हुआ है, लेकिन दिल्ली को अभी तक लगभग 296 मीट्रिक टन आक्सीजन ही प्राप्त हुई है। वकील राहुल मेहरा ने कोर्ट से कहा – यदि आवंटित आक्सीजन की सप्लाई पूरी नही हुई तो दिल्ली की स्वास्थ्य व्यवस्था 24 घंटे मे पूरी तरह ठप हो जाएगी।

इस पर दिल्ली हाईकोर्ट ने केंद्र सरकार से 480 मीट्रिक टन आक्सीजन के आवंटन का विवरण मांगा। गृह मंत्रालय के अधिकारियों ने कोर्ट को सूचित किया कि देशभर से आ रही आक्सीजन की भरी मांग के चलते आक्सीजन सप्लाई टैंकरों की कमी हो गयी है। इस बाबत कोर्ट ने दिल्ली सरकार को भी आक्सीजन सप्लाई के टैंकरों की खरीद के प्रयास करने को कहा है और उम्मीद जताई है कि दोनों सरकारों के अधिकारी समन्वय  से काम करेगें।

आक्सीजन सप्लाई पर सुनवाई करते हुये दिल्ली हाईकोर्ट की टिप्पणी- “जो आक्सीजन सप्लाई रोकेगा, हम उसे फाँसी पर चढ़ा देंगे”

                                   

kartar news

दिल्ली स्थित महाराजा अग्रसेन अस्पताल द्वारा दायर आक्सीजन सप्लाई की याचिका पर सुनवाई करते हुये दिल्ली हाईकोर्ट ने सख्त रुख दिखाया।  हाईकोर्ट ने दिल्ली सरकार से कहा – “केंद्र, राज्य या स्थानीय प्रसाशन से यदि कोई अधिकारी आक्सीजन की आपूर्ति मे बाधा पहुंचा रहा है तो कोर्ट उसे फाँसी पर चढ़ा देगा।“ जस्टिस विपिन सांघी और जस्टिस रेखा पल्ली की बेंच ने सुनवाई के दौरान ये टिप्पणी की।

सुनवाई के दौरान कोर्ट ने दिल्ली के हालातों पर चिंता व्यक्त करते हुये दिल्ली सरकार को भी जल्द से जल्द आक्सीजन की सप्लाई करने का आदेश दिया। दिल्ली सरकार की तरफ से पेश हुये वरिष्ठ वकील राहुल मेहरा ने कोर्ट को बताया की दिल्ली के लिए 480 मीट्रिक टन आक्सीजन का आवंटन केंद्र सरकार द्वारा हुआ है, लेकिन दिल्ली को अभी तक लगभग 296 मीट्रिक टन आक्सीजन ही प्राप्त हुई है। वकील राहुल मेहरा ने कोर्ट से कहा – यदि आवंटित आक्सीजन की सप्लाई पूरी नही हुई तो दिल्ली की स्वास्थ्य व्यवस्था 24 घंटे मे पूरी तरह ठप हो जाएगी।

इस पर दिल्ली हाईकोर्ट ने केंद्र सरकार से 480 मीट्रिक टन आक्सीजन के आवंटन का विवरण मांगा। गृह मंत्रालय के अधिकारियों ने कोर्ट को सूचित किया कि देशभर से आ रही आक्सीजन की भरी मांग के चलते आक्सीजन सप्लाई टैंकरों की कमी हो गयी है। इस बाबत कोर्ट ने दिल्ली सरकार को भी आक्सीजन सप्लाई के टैंकरों की खरीद के प्रयास करने को कहा है और उम्मीद जताई है कि दोनों सरकारों के अधिकारी समन्वय  से काम करेगें।

Comments are closed.

Share This On Social Media!