एम्स के निदेशक डॉक्टर रणदीप गुलेरिया ने एक इंटरव्यू में कहा कि भारत में कोविड-19 की पहली लहर में संक्रमण की संख्या में वृद्धि धीमी थी लेकिन दूसरी लहर में इसका कर्व वर्टिकल है। उन्होंने आगे कहा, “मामलों में वृद्धि लगभग एक रॉकेट की तरह है…यही वजह है कि स्वास्थ्य संबंधी बुनियादी ढांचा बुरी तरह से हिल गया है।”

दूसरी लहर में कोविड-19 मामलों में वृद्धि लगभग रॉकेट की तरह है: एम्स निदेशक

                                   

एम्स के निदेशक डॉक्टर रणदीप गुलेरिया ने एक इंटरव्यू में कहा कि भारत में कोविड-19 की पहली लहर में संक्रमण की संख्या में वृद्धि धीमी थी लेकिन दूसरी लहर में इसका कर्व वर्टिकल है। उन्होंने आगे कहा, “मामलों में वृद्धि लगभग एक रॉकेट की तरह है…यही वजह है कि स्वास्थ्य संबंधी बुनियादी ढांचा बुरी तरह से हिल गया है।”

Comments are closed.

Share This On Social Media!