डॉक्टरों ने शुक्रवार को कहा है कि घर के बाहर हुए बम धमाके में घायल मालदीव के पूर्व राष्ट्रपति मोहम्मद नशीद की हालत गंभीर बनी हुई है। डॉक्टरों के मुताबिक, पूर्व राष्ट्रपति के सिर, छाती, पेट समेत कई जगह चोटें आई हैं और 16 घंटे तक उनका ऑपरेशन चला है। बतौर रिपोर्ट्स, धमाके में 4 अन्य भी घायल हुए थे।

इस विस्फोट में घायल चार अन्य लोगों में एक ब्रिटिश नागरिक भी शामिल था, जिसे आतंकवादी घटना माना जा रहा है । किसी ने भी हमले का दावा नहीं किया है ।

ऑस्ट्रेलियाई पुलिस जांच में मदद के लिए मालदीव की यात्रा कर रही है ।

श्री नशीद 2008 में चुने गए थे लेकिन चार साल बाद तख्तापलट में उन्हें बाहर कर दिया गया । अब वह संसद के अध्यक्ष हैं-देश की दूसरी सबसे शक्तिशाली स्थिति ।

हिंद महासागर राष्ट्र अपने लक्जरी हॉलिडे रिसॉर्ट्स के लिए जाना जाता है, लेकिन राजनीतिक अशांति और इस्लामी उग्रवादी हिंसा का भी सामना करना पड़ा है ।

53 के श्री नशीद कट्टरपंथी इस्लामवादियों के मुखर आलोचक रहे हैं ।

राष्ट्रपति इब्राहिम सोलिह ने गुरुवार रात श्री नशीद के घर के बाहर हुए विस्फोट को ‘ मालदीव के लोकतंत्र और अर्थव्यवस्था पर हमला ‘ बताया

यह धमाका राजधानी माले में 20:39 स्थानीय समयानुसार (15:39 GMT) पर हुआ, इससे ठीक पहले रात के समय कर्फ्यू कोरोनावायरस को रोकने के उपायों के हिस्से के रूप में लागू होने के कारण हुआ ।

स्थानीय मीडिया रिपोर्टों में कहा गया है कि श्री नशीद की कार के पास खड़ी मोटरबाइक पर घर में रखा विस्फोटक उपकरण लगाया गया था ।

हालांकि किसी ने भी इस हमले को अंजाम देने का दावा नहीं किया है, लेकिन पुलिस ने कहा कि सभी सबूतों से संकेत मिलता है कि यह ‘ आतंक का जानबूझकर किया गया कृत्य ‘ है ।

पुलिस आयुक्त मोहम्मद हमीद ने कहा कि जांच के लिए 450 अधिकारियों को तैनात किया गया था ।

ऑस्ट्रेलियाई फेडरल पुलिस (एएफपी) के दो विशेषज्ञ शनिवार को मालदीव पहुंचेंगे। यह दूसरी बार है जब ऑस्ट्रेलियाई अधिकारियों ने कथित हत्या के प्रयास के साथ मालदीव की मदद की है । २०१५ में एएफपी और एफबीआई तत्कालीन राष्ट्रपति अब्दुल्ला यामीन की स्पीडबोट पर विस्फोट की जांच में शामिल हो गए ।

बम धमाके में घायल हुए मालदीव के पूर्व राष्ट्रपति मोहम्मद नशीद की हालत गंभीर

                                   

डॉक्टरों ने शुक्रवार को कहा है कि घर के बाहर हुए बम धमाके में घायल मालदीव के पूर्व राष्ट्रपति मोहम्मद नशीद की हालत गंभीर बनी हुई है। डॉक्टरों के मुताबिक, पूर्व राष्ट्रपति के सिर, छाती, पेट समेत कई जगह चोटें आई हैं और 16 घंटे तक उनका ऑपरेशन चला है। बतौर रिपोर्ट्स, धमाके में 4 अन्य भी घायल हुए थे।

इस विस्फोट में घायल चार अन्य लोगों में एक ब्रिटिश नागरिक भी शामिल था, जिसे आतंकवादी घटना माना जा रहा है । किसी ने भी हमले का दावा नहीं किया है ।

ऑस्ट्रेलियाई पुलिस जांच में मदद के लिए मालदीव की यात्रा कर रही है ।

श्री नशीद 2008 में चुने गए थे लेकिन चार साल बाद तख्तापलट में उन्हें बाहर कर दिया गया । अब वह संसद के अध्यक्ष हैं-देश की दूसरी सबसे शक्तिशाली स्थिति ।

हिंद महासागर राष्ट्र अपने लक्जरी हॉलिडे रिसॉर्ट्स के लिए जाना जाता है, लेकिन राजनीतिक अशांति और इस्लामी उग्रवादी हिंसा का भी सामना करना पड़ा है ।

53 के श्री नशीद कट्टरपंथी इस्लामवादियों के मुखर आलोचक रहे हैं ।

राष्ट्रपति इब्राहिम सोलिह ने गुरुवार रात श्री नशीद के घर के बाहर हुए विस्फोट को ‘ मालदीव के लोकतंत्र और अर्थव्यवस्था पर हमला ‘ बताया

यह धमाका राजधानी माले में 20:39 स्थानीय समयानुसार (15:39 GMT) पर हुआ, इससे ठीक पहले रात के समय कर्फ्यू कोरोनावायरस को रोकने के उपायों के हिस्से के रूप में लागू होने के कारण हुआ ।

स्थानीय मीडिया रिपोर्टों में कहा गया है कि श्री नशीद की कार के पास खड़ी मोटरबाइक पर घर में रखा विस्फोटक उपकरण लगाया गया था ।

हालांकि किसी ने भी इस हमले को अंजाम देने का दावा नहीं किया है, लेकिन पुलिस ने कहा कि सभी सबूतों से संकेत मिलता है कि यह ‘ आतंक का जानबूझकर किया गया कृत्य ‘ है ।

पुलिस आयुक्त मोहम्मद हमीद ने कहा कि जांच के लिए 450 अधिकारियों को तैनात किया गया था ।

ऑस्ट्रेलियाई फेडरल पुलिस (एएफपी) के दो विशेषज्ञ शनिवार को मालदीव पहुंचेंगे। यह दूसरी बार है जब ऑस्ट्रेलियाई अधिकारियों ने कथित हत्या के प्रयास के साथ मालदीव की मदद की है । २०१५ में एएफपी और एफबीआई तत्कालीन राष्ट्रपति अब्दुल्ला यामीन की स्पीडबोट पर विस्फोट की जांच में शामिल हो गए ।

Comments are closed.

Share This On Social Media!