Last updated on May 12th, 2021 at 10:18 am

पुदुचेरी में शुक्रवार को राज्यपाल तमिलिसाई सौंदरराजन ने ऑल इंडिया एन.आर. कांग्रेस के अध्यक्ष एन. रंगासामी को मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाई। हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव में एआईएनआरसी की अगुवाई वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन को कुल 30 सीटों में से 16 पर जीत मिली। रंगासामी ने चौथी बार राज्य के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली है।

तीन बार के मुख्यमंत्री और ऑल इंडिया एनआर कांग्रेस (एआईएनआरसी) के अध्यक्ष एन रंगास्वामी (N Rangaswamy), जिन्होंने शुक्रवार को पुडुचेरी विधानसभा चुनाव में एनडीए को जीत दिलाई, उनको मुख्यमंत्री के रूप में शपथ दिलाई जाएगी। मुख्यमंत्री ने संकेत दिया कि वह एक उप मुख्यमंत्री होंगे।

रंगास्वामी ने कहा, हम एक उपमुख्यमंत्री के बारे में सोच रहे हैं और अगर केंद्र ने प्रस्ताव दिया तो हम इस पर विचार करेंगे। केंद्रशासित प्रदेश पुडुचेरी में कभी उपमुख्यमंत्री नहीं रहा है, बीजेपी नेता नमस्सिवम के पास यह पद होगा। एनआर कैबिनेट में एआईएनआरसी और बीजेपी के 3 सदस्यों के साथ मुख्यमंत्री सहित 7 सदस्य होने की संभावना है।

बीजेपी पुडुचेरी नेतृत्व के अनुसार, बीजेपी को जॉन कुमार को एनआर सरकार के अल्पसंख्यक चेहरे के रूप में शामिल करने की संभावना है और अन्य नामों को जल्द ही अंतिम रूप दिया जाएगा। बीजेपी पुडुचेरी के प्रदेश अध्यक्ष, समिनाथन ने कहा, पार्टी एनडीए सरकार में शामिल किए जाने वाले नामों को अंतिम रूप देने की प्रक्रिया में है। एक उप मुख्यमंत्री की संभावनाएं हैं और यह पहली बार होगा जब पुडुचेरी में उपमुख्यमंत्री होगा।

पुडुचेरी में हाल में संपन्न हुए विधानसभा चुनाव में एआईएनआरसी ने 16 सीटों पर चुनाव लड़ा था, जिसमें से उसे 10 सीटों पर जीत हासिल हुई है। तीस सदस्यीय विधानसभा में सरकार गठन के लिए बहुमत का आंकड़ा 16 है। एनडीए गठबंधन को इस चुनाव में 16 सीटों पर जीत हासिल हुई है। इसके अलावा निर्दलीय छह उम्मीदवारों ने जीत हासिल की है, जो मोटे तौर पर रंगासामी के समर्थन में हैं। डीएमके ने 13 सीटों पर चुनाव लड़ा था, जिसमें से पांच सीटों पर उसे जीत मिली है। कांग्रेस ने 14 सीटों पर चुनाव लड़ा, लेकिन उसे दो सीटों पर ही जीत हासिल हुई।

एन. रंगासामी चौथी बार बने पुदुचेरी के मुख्यमंत्री, राज्यपाल सौंदरराजन ने दिलाई शपथ

                                   

Last updated on May 12th, 2021 at 10:18 am

पुदुचेरी में शुक्रवार को राज्यपाल तमिलिसाई सौंदरराजन ने ऑल इंडिया एन.आर. कांग्रेस के अध्यक्ष एन. रंगासामी को मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाई। हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव में एआईएनआरसी की अगुवाई वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन को कुल 30 सीटों में से 16 पर जीत मिली। रंगासामी ने चौथी बार राज्य के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली है।

तीन बार के मुख्यमंत्री और ऑल इंडिया एनआर कांग्रेस (एआईएनआरसी) के अध्यक्ष एन रंगास्वामी (N Rangaswamy), जिन्होंने शुक्रवार को पुडुचेरी विधानसभा चुनाव में एनडीए को जीत दिलाई, उनको मुख्यमंत्री के रूप में शपथ दिलाई जाएगी। मुख्यमंत्री ने संकेत दिया कि वह एक उप मुख्यमंत्री होंगे।

रंगास्वामी ने कहा, हम एक उपमुख्यमंत्री के बारे में सोच रहे हैं और अगर केंद्र ने प्रस्ताव दिया तो हम इस पर विचार करेंगे। केंद्रशासित प्रदेश पुडुचेरी में कभी उपमुख्यमंत्री नहीं रहा है, बीजेपी नेता नमस्सिवम के पास यह पद होगा। एनआर कैबिनेट में एआईएनआरसी और बीजेपी के 3 सदस्यों के साथ मुख्यमंत्री सहित 7 सदस्य होने की संभावना है।

बीजेपी पुडुचेरी नेतृत्व के अनुसार, बीजेपी को जॉन कुमार को एनआर सरकार के अल्पसंख्यक चेहरे के रूप में शामिल करने की संभावना है और अन्य नामों को जल्द ही अंतिम रूप दिया जाएगा। बीजेपी पुडुचेरी के प्रदेश अध्यक्ष, समिनाथन ने कहा, पार्टी एनडीए सरकार में शामिल किए जाने वाले नामों को अंतिम रूप देने की प्रक्रिया में है। एक उप मुख्यमंत्री की संभावनाएं हैं और यह पहली बार होगा जब पुडुचेरी में उपमुख्यमंत्री होगा।

पुडुचेरी में हाल में संपन्न हुए विधानसभा चुनाव में एआईएनआरसी ने 16 सीटों पर चुनाव लड़ा था, जिसमें से उसे 10 सीटों पर जीत हासिल हुई है। तीस सदस्यीय विधानसभा में सरकार गठन के लिए बहुमत का आंकड़ा 16 है। एनडीए गठबंधन को इस चुनाव में 16 सीटों पर जीत हासिल हुई है। इसके अलावा निर्दलीय छह उम्मीदवारों ने जीत हासिल की है, जो मोटे तौर पर रंगासामी के समर्थन में हैं। डीएमके ने 13 सीटों पर चुनाव लड़ा था, जिसमें से पांच सीटों पर उसे जीत मिली है। कांग्रेस ने 14 सीटों पर चुनाव लड़ा, लेकिन उसे दो सीटों पर ही जीत हासिल हुई।

Comments are closed.

Share This On Social Media!