Last updated on May 12th, 2021 at 10:46 am

हिमाचल प्रदेश सरकार ने राज्य के 4 ज़िलों (कांगड़ा, ऊना, सोलन और सिरमौर) में 27 अप्रैल से 10 मई तक रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक रात्रि कर्फ्यू लगाने की घोषणा की है। इसके अलावा दूसरे राज्यों से हिमाचल प्रदेश आने वालों को 72-घंटे के अंदर आरटी-पीसीआर टेस्ट करवाना होगा या 14-दिन तक होम क्वारंटीन/आइसोलेशन में रहना होगा।हिमाचल प्रदेश में कोविद-19 मामलों की संख्या में तेज वृद्धि को देखते हुए प्रदेश सरकार ने 27 अप्रैल की मध्यरात्रि से 10 मई तक चार जिलों कांगड़ा, ऊना, सोलन और सिरमौर में रात का कर्फ्यू सुबह 10 से शाम 5 बजे तक लगाने का फैसला किया है। रविवार को शिमला में मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर की अध्यक्षता में हुई उच्चस्तरीय बैठक में यह निर्णय लिया गया।

बैठक में शहरी विकास मंत्री सुरेश भारद्वाज, तकनीकी शिक्षा एवं जनजाति विकास मंत्री राम लाल मारकंडा, स्वास्थ्य मंत्री राजीव सैंजल, वन मंत्री राकेश पठानिया, मुख्य सचिव अनिल खाची, अतिरिक्त मुख्य सचिव प्रबोध सक्सेना, सचिव स्वास्थ्य अमिताभ अवस्थी व अन्य अधिकारी शामिल हुए।बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि प्रदेश में आने वाले सभी लोगों के लिए 72 घंटे के भीतर आरटी-पीसीआर टेस्ट अनिवार्य किया जाए। यह निर्णय लिया गया कि यदि राज्य में आने वाले व्यक्तियों का आरटी-पीसीआर परीक्षण नहीं हुआ है, तो उन्हें चौदह दिनों तक अपने निवास स्थान पर होम क्वॉरन्टीन/अलगाव में रहना होगा । उनके पास आने के सात दिनों के बाद खुद को परीक्षण कराने का विकल्प भी होगा, और यदि परीक्षण नकारात्मक होता है, तो उन्हें शेष संगरोध की आवश्यकता नहीं होती है।

बैठक में निर्णय लिया गया कि शहरी और ग्रामीण दोनों क्षेत्रों में स्थानीय निकाय अपने-अपने क्षेत्रों में सभी एसओपी और दिशा-निर्देशों को प्रभावी ढंग से लागू करने में बारीकी से शामिल होंगे और उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई शुरू करने का अधिकार दिया जाएगा ताकि इस महामारी के प्रसार को रोकने के लिए ।

हिमाचल प्रदेश के 4 ज़िलों में 27 अप्रैल से 10 मई तक लागू रहेगा रात्रि कर्फ्यू

                                   

Last updated on May 12th, 2021 at 10:46 am

हिमाचल प्रदेश सरकार ने राज्य के 4 ज़िलों (कांगड़ा, ऊना, सोलन और सिरमौर) में 27 अप्रैल से 10 मई तक रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक रात्रि कर्फ्यू लगाने की घोषणा की है। इसके अलावा दूसरे राज्यों से हिमाचल प्रदेश आने वालों को 72-घंटे के अंदर आरटी-पीसीआर टेस्ट करवाना होगा या 14-दिन तक होम क्वारंटीन/आइसोलेशन में रहना होगा।हिमाचल प्रदेश में कोविद-19 मामलों की संख्या में तेज वृद्धि को देखते हुए प्रदेश सरकार ने 27 अप्रैल की मध्यरात्रि से 10 मई तक चार जिलों कांगड़ा, ऊना, सोलन और सिरमौर में रात का कर्फ्यू सुबह 10 से शाम 5 बजे तक लगाने का फैसला किया है। रविवार को शिमला में मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर की अध्यक्षता में हुई उच्चस्तरीय बैठक में यह निर्णय लिया गया।

बैठक में शहरी विकास मंत्री सुरेश भारद्वाज, तकनीकी शिक्षा एवं जनजाति विकास मंत्री राम लाल मारकंडा, स्वास्थ्य मंत्री राजीव सैंजल, वन मंत्री राकेश पठानिया, मुख्य सचिव अनिल खाची, अतिरिक्त मुख्य सचिव प्रबोध सक्सेना, सचिव स्वास्थ्य अमिताभ अवस्थी व अन्य अधिकारी शामिल हुए।बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि प्रदेश में आने वाले सभी लोगों के लिए 72 घंटे के भीतर आरटी-पीसीआर टेस्ट अनिवार्य किया जाए। यह निर्णय लिया गया कि यदि राज्य में आने वाले व्यक्तियों का आरटी-पीसीआर परीक्षण नहीं हुआ है, तो उन्हें चौदह दिनों तक अपने निवास स्थान पर होम क्वॉरन्टीन/अलगाव में रहना होगा । उनके पास आने के सात दिनों के बाद खुद को परीक्षण कराने का विकल्प भी होगा, और यदि परीक्षण नकारात्मक होता है, तो उन्हें शेष संगरोध की आवश्यकता नहीं होती है।

बैठक में निर्णय लिया गया कि शहरी और ग्रामीण दोनों क्षेत्रों में स्थानीय निकाय अपने-अपने क्षेत्रों में सभी एसओपी और दिशा-निर्देशों को प्रभावी ढंग से लागू करने में बारीकी से शामिल होंगे और उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई शुरू करने का अधिकार दिया जाएगा ताकि इस महामारी के प्रसार को रोकने के लिए ।

Comments are closed.

Share This On Social Media!