Last updated on May 12th, 2021 at 10:37 am

विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला ने कहा है कि 40 से अधिक देशों ने कोविड-19 की दूसरी लहर का सामना कर रहे भारत की मदद करने की पेशकश की है। बकौल श्रृंगला, भारत को मदद में 500 से ज़्यादा ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट्स, 4,000 से अधिक ऑक्सीजन कॉन्सनट्रेटर्स, 10,000 से अधिक ऑक्सीजन सिलिंडर्स और 17 क्रायोजेनिक ऑक्सीजन टैंकर मिलने की उम्मीद है।

भारत ने ऑक्सीजन के आयात को प्राथमिकता दी है विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रंगला ने गुरुवार को कहा कि 40 देशों ने अपना समर्थन देने का वादा किया था ।विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रंगला ने गुरुवार को कहा, भारत कोरोनावायरस महामारी से निपटने के लिए करीब ५५० ऑक्सीजन पैदा करने वाले संयंत्र, 4,000 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर और 10,000 ऑक्सीजन सिलेंडर विदेशों से मिल रहे हैं ।

श्रिंगला ने कहा, 40 से अधिक देश, न सिर्फ विकसित देश बल्कि हमारे पड़ोसी मॉरीशस, बांग्लादेश, भूटान सभी सहायता प्रदान करने के लिए आगे आए हैं ।उन्होंने आयरलैंड से 700 कंसंट्रेटर के साथ आने वाली एक फ्लाइट की जानकारी दी । फ्रांस की उड़ान शनिवार को आ रही होगी ।”हम भी कल और दिनों के अगले कुछ पर अमेरिका से तीन विशेष उड़ानों की उंमीद कर रहे हैं । उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति बिडेन ने प्रधानमंत्री से बात की और व्यापक सहायता की पेशकश की ।

श्रिंगला ने यह भी कहा कि भारत संयुक्त अरब अमीरात, बांग्लादेश और उजबेकिस्तान जैसे देशों से इसे प्राप्त करने की खोज के अलावा मिस्र से रेमदेसिवर दवा की 400,000 इकाइयों की खरीद पर विचार कर रहा है ।”हम आम तौर पर एक दिन में Remdesivir की 67,000 खुराक का निर्माण करते हैं । लेकिन आज आवश्यकता एक दिन में 2-3 लाख के बीच हो सकती है। विदेश सचिव ने कहा, इसलिए हमें इस अंतर को पाटना होगा, यह कुछ ऐसा है जिसके बारे में हमारे उत्पादक भली-भांति जानते हैं, वे वास्तव में अपने उत्पादन को बढ़ा रहे हैं ।

कोविड-19 संकट में 40 से अधिक देशों ने भारत की मदद करने की पेशकश की: विदेश सचिव

                                   

Last updated on May 12th, 2021 at 10:37 am

विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला ने कहा है कि 40 से अधिक देशों ने कोविड-19 की दूसरी लहर का सामना कर रहे भारत की मदद करने की पेशकश की है। बकौल श्रृंगला, भारत को मदद में 500 से ज़्यादा ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट्स, 4,000 से अधिक ऑक्सीजन कॉन्सनट्रेटर्स, 10,000 से अधिक ऑक्सीजन सिलिंडर्स और 17 क्रायोजेनिक ऑक्सीजन टैंकर मिलने की उम्मीद है।

भारत ने ऑक्सीजन के आयात को प्राथमिकता दी है विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रंगला ने गुरुवार को कहा कि 40 देशों ने अपना समर्थन देने का वादा किया था ।विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रंगला ने गुरुवार को कहा, भारत कोरोनावायरस महामारी से निपटने के लिए करीब ५५० ऑक्सीजन पैदा करने वाले संयंत्र, 4,000 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर और 10,000 ऑक्सीजन सिलेंडर विदेशों से मिल रहे हैं ।

श्रिंगला ने कहा, 40 से अधिक देश, न सिर्फ विकसित देश बल्कि हमारे पड़ोसी मॉरीशस, बांग्लादेश, भूटान सभी सहायता प्रदान करने के लिए आगे आए हैं ।उन्होंने आयरलैंड से 700 कंसंट्रेटर के साथ आने वाली एक फ्लाइट की जानकारी दी । फ्रांस की उड़ान शनिवार को आ रही होगी ।”हम भी कल और दिनों के अगले कुछ पर अमेरिका से तीन विशेष उड़ानों की उंमीद कर रहे हैं । उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति बिडेन ने प्रधानमंत्री से बात की और व्यापक सहायता की पेशकश की ।

श्रिंगला ने यह भी कहा कि भारत संयुक्त अरब अमीरात, बांग्लादेश और उजबेकिस्तान जैसे देशों से इसे प्राप्त करने की खोज के अलावा मिस्र से रेमदेसिवर दवा की 400,000 इकाइयों की खरीद पर विचार कर रहा है ।”हम आम तौर पर एक दिन में Remdesivir की 67,000 खुराक का निर्माण करते हैं । लेकिन आज आवश्यकता एक दिन में 2-3 लाख के बीच हो सकती है। विदेश सचिव ने कहा, इसलिए हमें इस अंतर को पाटना होगा, यह कुछ ऐसा है जिसके बारे में हमारे उत्पादक भली-भांति जानते हैं, वे वास्तव में अपने उत्पादन को बढ़ा रहे हैं ।

Comments are closed.

Share This On Social Media!