Last updated on May 12th, 2021 at 10:37 am

वेस्ट त्रिपुरा ज़िले के डीएम शैलेश कुमार यादव का एक वीडियो सामने आया है जिसमें वह रात्रि कर्फ्यू के बीच हो रहे दो शादी समारोहों पर छापा मारते दिख रहे हैं। यादव ने पुलिसकर्मियों से कई लोगों को गिरफ्तार करवाया। बाद में यादव ने माफी मांगते हुए कहा कि उनका इरादा किसी की भावनाएं आहत करना नहीं था।

त्रिपुरा से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के पांच विधायकों ने मंगलवार को अगरतला में दो शादी समारोहों को जबरन रोकने वाले पश्चिम त्रिपुरा के जिलाधिकारी शैलेश कुमार यादव को तत्काल निलंबित करने की मांग करते हुए कहा कि उनका व्यवहार ‘ बोरिश और असंस्कारी ‘ था । विधायकों ने यह भी कहा कि डीएम शैलेश कुमार यादव ने दूल्हा-दुल्हन के साथ ‘ शारीरिक रूप से मारपीट ‘ की और आमंत्रितों को ‘ गाली ‘ दी ।

शैलेश कुमार यादव ने बाद में अपने कार्यों के लिए माफी मांगते हुए कहा कि उन्होंने जो किया वह केवल ‘ लोगों के लाभ और भलाई के लिए ‘ था । शैलेश कुमार यादव ने कथित तौर पर दो शादी समारोहों को उस समय रोक दिया था जब वे आधे रास्ते में थे ।

“मैं माफी मांगता हूं अगर किसी भी व्यक्ति या समूह कल रात की कार्रवाई से दुखी है । लेकिन कल रात जो किया गया वह केवल लाभ और अच्छी तरह से लोगों के होने के लिए था । शैलेश कुमार यादव ने पीटीआई के हवाले से कहा, मेरा मकसद किसी को दर्द या अपमानित करना नहीं था ।सोशल मीडिया पर वायरल हुए वीडियो फुटेज में शैलेश कुमार यादव को शादी स्थलों पर मौजूद आमंत्रितों और अन्य लोगों को जबरदस्ती छोड़ने और उनके साथ मौजूद पुलिसकर्मियों को उन्हें कार्यक्रम स्थल से बाहर भगाने का आदेश देते हुए देखा गया ।

 

रात्रि कर्फ्यू के बीच शादियों पर त्रिपुरा के डीएम ने मारा छापा, कई लोग कराए गिरफ्तार

                                   

Last updated on May 12th, 2021 at 10:37 am

वेस्ट त्रिपुरा ज़िले के डीएम शैलेश कुमार यादव का एक वीडियो सामने आया है जिसमें वह रात्रि कर्फ्यू के बीच हो रहे दो शादी समारोहों पर छापा मारते दिख रहे हैं। यादव ने पुलिसकर्मियों से कई लोगों को गिरफ्तार करवाया। बाद में यादव ने माफी मांगते हुए कहा कि उनका इरादा किसी की भावनाएं आहत करना नहीं था।

त्रिपुरा से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के पांच विधायकों ने मंगलवार को अगरतला में दो शादी समारोहों को जबरन रोकने वाले पश्चिम त्रिपुरा के जिलाधिकारी शैलेश कुमार यादव को तत्काल निलंबित करने की मांग करते हुए कहा कि उनका व्यवहार ‘ बोरिश और असंस्कारी ‘ था । विधायकों ने यह भी कहा कि डीएम शैलेश कुमार यादव ने दूल्हा-दुल्हन के साथ ‘ शारीरिक रूप से मारपीट ‘ की और आमंत्रितों को ‘ गाली ‘ दी ।

शैलेश कुमार यादव ने बाद में अपने कार्यों के लिए माफी मांगते हुए कहा कि उन्होंने जो किया वह केवल ‘ लोगों के लाभ और भलाई के लिए ‘ था । शैलेश कुमार यादव ने कथित तौर पर दो शादी समारोहों को उस समय रोक दिया था जब वे आधे रास्ते में थे ।

“मैं माफी मांगता हूं अगर किसी भी व्यक्ति या समूह कल रात की कार्रवाई से दुखी है । लेकिन कल रात जो किया गया वह केवल लाभ और अच्छी तरह से लोगों के होने के लिए था । शैलेश कुमार यादव ने पीटीआई के हवाले से कहा, मेरा मकसद किसी को दर्द या अपमानित करना नहीं था ।सोशल मीडिया पर वायरल हुए वीडियो फुटेज में शैलेश कुमार यादव को शादी स्थलों पर मौजूद आमंत्रितों और अन्य लोगों को जबरदस्ती छोड़ने और उनके साथ मौजूद पुलिसकर्मियों को उन्हें कार्यक्रम स्थल से बाहर भगाने का आदेश देते हुए देखा गया ।

 

Comments are closed.

Share This On Social Media!