Last updated on May 12th, 2021 at 10:40 am

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने राज्य सरकार द्वारा कोविड-19 मौतों का आंकड़ा छुपाए जाने के आरोप पर सोमवार को कहा, “इस संकट में हमें डेटा के साथ नहीं खेलना है।” उन्होंने कहा, “हमें इस पर ध्यान देना है कि लोगों का स्वास्थ्य कैसे ठीक हो…जिसकी मौत हो गई है वो हमारे शोर मचाने से जीवित नहीं हो जाएगा।”हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने मंगलवार को कहा कि इस समय कोविद से होने वाली मौतों की संख्या पर बहस करना बेकार है और इसलिए इस बीमारी से ज्यादा प्रभावित लोग उबरने पर ध्यान देना चाहिए।

“अब हम जिस खतरनाक स्थिति में हैं, उसे देखते हुए अब हमें आंकड़ों पर बहस नहीं करनी चाहिए । खट्टर ने एएनआई के हवाले से कहा, हमें इसके बजाय इस बात पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए कि लोग इस बीमारी से कैसे उबरते हैं ।इस सवाल का जवाब देते हुए कि क्या कोविद की मौतों की संख्या वास्तव में आधिकारिक आंकड़ों से ज्यादा है, उन्होंने आगे कहा, जो लोग मारे गए वे कभी वापस नहीं आएंगे । हम हर किसी को बचाने की पूरी कोशिश करेंगे। अगर मौतों की संख्या वास्तव में कमोबेश है तो बहस करने का कोई मतलब नहीं है ।सोमवार को हरियाणा ने अपने सबसे ज्यादा कोविद मरने वालों की संख्या दर्ज की, जिसमें ७५ और लोग इस बीमारी का शिकार हो गए । राज्य में भी सोमवार को 11,504 ताजा मामले सामने आए ।

स्वास्थ्य विभाग के दैनिक बुलेटिन के अनुसार ताजा मौतों में हिसार से नौ, गुड़गांव और सिरसा से सात-सात और फरीदाबाद, सोनीपत और फतेहाबाद जिलों से छह-छह शामिल हैं ।मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने सोमवार को जोर देकर कहा कि राज्य में मेडिकल ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं है, जबकि लोगों को आश्वस्त किया गया है कि राज्य सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए तैयार है कि लोगों को उग्र कोरोनावायरस महामारी के बीच किसी भी समस्या का सामना न करना पड़े ।

इस संकट में हमें डेटा के साथ नहीं खेलना, शोर मचाने से कोई जीवित नहीं हो जाएगा: खट्टर

                                   

Last updated on May 12th, 2021 at 10:40 am

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने राज्य सरकार द्वारा कोविड-19 मौतों का आंकड़ा छुपाए जाने के आरोप पर सोमवार को कहा, “इस संकट में हमें डेटा के साथ नहीं खेलना है।” उन्होंने कहा, “हमें इस पर ध्यान देना है कि लोगों का स्वास्थ्य कैसे ठीक हो…जिसकी मौत हो गई है वो हमारे शोर मचाने से जीवित नहीं हो जाएगा।”हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने मंगलवार को कहा कि इस समय कोविद से होने वाली मौतों की संख्या पर बहस करना बेकार है और इसलिए इस बीमारी से ज्यादा प्रभावित लोग उबरने पर ध्यान देना चाहिए।

“अब हम जिस खतरनाक स्थिति में हैं, उसे देखते हुए अब हमें आंकड़ों पर बहस नहीं करनी चाहिए । खट्टर ने एएनआई के हवाले से कहा, हमें इसके बजाय इस बात पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए कि लोग इस बीमारी से कैसे उबरते हैं ।इस सवाल का जवाब देते हुए कि क्या कोविद की मौतों की संख्या वास्तव में आधिकारिक आंकड़ों से ज्यादा है, उन्होंने आगे कहा, जो लोग मारे गए वे कभी वापस नहीं आएंगे । हम हर किसी को बचाने की पूरी कोशिश करेंगे। अगर मौतों की संख्या वास्तव में कमोबेश है तो बहस करने का कोई मतलब नहीं है ।सोमवार को हरियाणा ने अपने सबसे ज्यादा कोविद मरने वालों की संख्या दर्ज की, जिसमें ७५ और लोग इस बीमारी का शिकार हो गए । राज्य में भी सोमवार को 11,504 ताजा मामले सामने आए ।

स्वास्थ्य विभाग के दैनिक बुलेटिन के अनुसार ताजा मौतों में हिसार से नौ, गुड़गांव और सिरसा से सात-सात और फरीदाबाद, सोनीपत और फतेहाबाद जिलों से छह-छह शामिल हैं ।मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने सोमवार को जोर देकर कहा कि राज्य में मेडिकल ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं है, जबकि लोगों को आश्वस्त किया गया है कि राज्य सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए तैयार है कि लोगों को उग्र कोरोनावायरस महामारी के बीच किसी भी समस्या का सामना न करना पड़े ।

Comments are closed.

Share This On Social Media!