Last updated on May 12th, 2021 at 10:26 am

रामपुर के मिलक ब्लॉक के गांव मुहम्मदपुर जदीद निवासी गंगासरन की 23 वर्षीय बेटी पूनम शर्मा वार्ड नम्बर 135 से बीडीसी के चुनाव में खड़ी हुई थी। जिसकी 2 मई को शादी थी और पंचायत चुनाव की मतगणना भी 2 मई को ही थी। कोविड नियमों को ध्यान में रखते हुए बीडीसी पद की प्रत्याशी पूनम की शादी की रस्में चल रही थी।
इसी बीच पूनम को पता चला कि वह चुनाव जीत गयी है तो वह दुल्हन के लिवास में ही अपनी वरमाला को छोड़ मतगणना स्थल जीत का सर्टिफिकेट लेने पहुंच गई अपनी शादी और बीडीसी के चुनाव की जीत पूनम के चेहरे पर साफ झलक रही थी।
पूनम ने बताया कि उसकी शादी बरेली ज़िले के वफरी थाना शाही के रहने वाले रिंकू से हो रही है। शादी के दिन ही उसे ऐसी खुशी मिलेगी यह उसने कभी सोचा नहीं था। साथ ही उसने बताया कि अपने प्रतिद्वंद्वी मुकेश को 31 वोटों से हराया है और वह अपने क्षेत्र की समस्याओं को हल कर क्षेत्र में विकास करना चाहती है।

यूपी में वरमाला छोड़ पंचायत चुनाव के जीत का सर्टिफिकेट लेने पहुचीं पूनम।

                                   

Last updated on May 12th, 2021 at 10:26 am

रामपुर के मिलक ब्लॉक के गांव मुहम्मदपुर जदीद निवासी गंगासरन की 23 वर्षीय बेटी पूनम शर्मा वार्ड नम्बर 135 से बीडीसी के चुनाव में खड़ी हुई थी। जिसकी 2 मई को शादी थी और पंचायत चुनाव की मतगणना भी 2 मई को ही थी। कोविड नियमों को ध्यान में रखते हुए बीडीसी पद की प्रत्याशी पूनम की शादी की रस्में चल रही थी।
इसी बीच पूनम को पता चला कि वह चुनाव जीत गयी है तो वह दुल्हन के लिवास में ही अपनी वरमाला को छोड़ मतगणना स्थल जीत का सर्टिफिकेट लेने पहुंच गई अपनी शादी और बीडीसी के चुनाव की जीत पूनम के चेहरे पर साफ झलक रही थी।
पूनम ने बताया कि उसकी शादी बरेली ज़िले के वफरी थाना शाही के रहने वाले रिंकू से हो रही है। शादी के दिन ही उसे ऐसी खुशी मिलेगी यह उसने कभी सोचा नहीं था। साथ ही उसने बताया कि अपने प्रतिद्वंद्वी मुकेश को 31 वोटों से हराया है और वह अपने क्षेत्र की समस्याओं को हल कर क्षेत्र में विकास करना चाहती है।

Comments are closed.

Share This On Social Media!