पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के नतीजे घोषित होने के एक दिन बाद गृह मंत्रालय ने राज्य सरकार से राज्य में चुनाव के बाद ‘विपक्षी राजनीतिक कार्यकर्ताओं को निशाना बनाते हुए’ हुई हिंसा पर रिपोर्ट मांगी है। बीजेपी ने सोमवार को आरोप लगाया कि राज्य में पिछले 24 घंटों के दौरान हुई हिंसा में उसकी पार्टी के 9 कार्यकर्ता मारे गए।

गृह मंत्रालय ने पश्चिम बंगाल सरकार से राज्य में चुनाव के बाद बीजेपी और टीएमसी नेताओं के बीच हुई झड़प को लेकर रिपोर्ट मांगी है। इस हिंसा में 9 लोगों की मौत हो गई, जबकि कई जगहों पर आगजनी की खबर है। राज्य में चुनाव के नतीजे आते ही हिंसा का दौर शुरू हो गया है। बीजेपी और टीएमसी नेताओं की झड़प में पिछले 24 घंटे में 9 लोगों की मौत हो चुकी है। कई इलाकों में स्थानीय लोगों ने भी टीएमसी कार्यकर्ताओं पर हिंसा का आरोप लगाया। आरोपों के मुताबिक भाटपाड़ा के घोषपारा रोड पर कुछ अज्ञात लोगों ने बीजेपी ऑफिस के साथ-साथ कुछ दुकानों में भी तोड़फोड़ की। इनका आरोप है कि कम से कम 10 बम फेंके गये।

पश्चिम बंगाल (West Bengal) में तृणमूल कांग्रेस की सत्ता में वापसी के साथ राज्य में हिंसा का तांडव एक बार फिर शुरू हो गया है। बीजेपी नेताओं का आरोप है कि चुनाव परिणाम आने के 24 घंटे के अंदर बीजेपी के 5 कार्यकर्ताओं की हत्या कर दी गई है। बीजेपी के मुताबिक परिणाम आने के बाद राज्य में दर्जनों बीजेपी समर्थकों के घरों में तोड़फोड़ की गई है और पार्टी कार्यालय में आग लगा दी गई है। चुनाव के दौरान सुर्खियों में रहे सीतलकुची में गोली मार कर एक व्यक्ति की हत्या कर दी गई। बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने इस मुद्दे पर राज्यपाल से मुलाकात की और उन्हें एक आवेदन सौंपा। उनका आरोप है कि प्रदेश में भय का वातावरण है और सत्ताधारी पार्टी हाथ बांध कर बैठी है। वहीं पुलिस पूरी तरह निष्क्रिय है।

गृह मंत्रालय ने चुनावी नतीजे के बाद हुई हिंसा पर पश्चिम बंगाल सरकार से मांगी रिपोर्ट

                                   

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के नतीजे घोषित होने के एक दिन बाद गृह मंत्रालय ने राज्य सरकार से राज्य में चुनाव के बाद ‘विपक्षी राजनीतिक कार्यकर्ताओं को निशाना बनाते हुए’ हुई हिंसा पर रिपोर्ट मांगी है। बीजेपी ने सोमवार को आरोप लगाया कि राज्य में पिछले 24 घंटों के दौरान हुई हिंसा में उसकी पार्टी के 9 कार्यकर्ता मारे गए।

गृह मंत्रालय ने पश्चिम बंगाल सरकार से राज्य में चुनाव के बाद बीजेपी और टीएमसी नेताओं के बीच हुई झड़प को लेकर रिपोर्ट मांगी है। इस हिंसा में 9 लोगों की मौत हो गई, जबकि कई जगहों पर आगजनी की खबर है। राज्य में चुनाव के नतीजे आते ही हिंसा का दौर शुरू हो गया है। बीजेपी और टीएमसी नेताओं की झड़प में पिछले 24 घंटे में 9 लोगों की मौत हो चुकी है। कई इलाकों में स्थानीय लोगों ने भी टीएमसी कार्यकर्ताओं पर हिंसा का आरोप लगाया। आरोपों के मुताबिक भाटपाड़ा के घोषपारा रोड पर कुछ अज्ञात लोगों ने बीजेपी ऑफिस के साथ-साथ कुछ दुकानों में भी तोड़फोड़ की। इनका आरोप है कि कम से कम 10 बम फेंके गये।

पश्चिम बंगाल (West Bengal) में तृणमूल कांग्रेस की सत्ता में वापसी के साथ राज्य में हिंसा का तांडव एक बार फिर शुरू हो गया है। बीजेपी नेताओं का आरोप है कि चुनाव परिणाम आने के 24 घंटे के अंदर बीजेपी के 5 कार्यकर्ताओं की हत्या कर दी गई है। बीजेपी के मुताबिक परिणाम आने के बाद राज्य में दर्जनों बीजेपी समर्थकों के घरों में तोड़फोड़ की गई है और पार्टी कार्यालय में आग लगा दी गई है। चुनाव के दौरान सुर्खियों में रहे सीतलकुची में गोली मार कर एक व्यक्ति की हत्या कर दी गई। बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने इस मुद्दे पर राज्यपाल से मुलाकात की और उन्हें एक आवेदन सौंपा। उनका आरोप है कि प्रदेश में भय का वातावरण है और सत्ताधारी पार्टी हाथ बांध कर बैठी है। वहीं पुलिस पूरी तरह निष्क्रिय है।

Comments are closed.

Share This On Social Media!