मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को बताया कि उनकी सरकार ने राज्य के मान्यता प्राप्त पत्रकारों को फ्रंटलाइन वर्कर्स की श्रेणी में शामिल करने का निर्णय लिया है। उन्होंने कहा, “कोविड-19 काल में हमारे पत्रकार अपनी जान जोखिम में डालकर कर्तव्यों का निर्वहन कर रहे हैं…हम उनका पूरा ध्यान रखेंगे और उनकी पूरी चिंता की जाएगी।”

COVID-19 महामारी के बीच, मध्य प्रदेश ने सोमवार को राज्य सरकार से मान्यता प्राप्त मीडिया पेशेवरों को ‘ फ्रंटलाइन वर्कर्स ‘ घोषित कर दिया । घोषणा करते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि पत्रकार कोविड-19 महामारी के इस खतरनाक दौर के दौरान अपनी ड्यूटी करते हुए अपनी जान जोखिम में डाल रहे थे ।

“इसलिए, हमने सभी मान्यता प्राप्त पत्रकारों को मध्य प्रदेश में अग्रिम पंक्ति के कार्यकर्ता घोषित करने का फैसला किया है । चौहान ने मुख्यमंत्री कार्यालय के ट्विटर हैंडल पर पोस्ट किए गए एक वीडियो बयान में कहा, उनका ध्यान रखा जाएगा ।

 

मध्य प्रदेश सरकार ने पत्रकारों को फ्रंटलाइन वर्कर्स की सूची में किया शामिल

                                   

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को बताया कि उनकी सरकार ने राज्य के मान्यता प्राप्त पत्रकारों को फ्रंटलाइन वर्कर्स की श्रेणी में शामिल करने का निर्णय लिया है। उन्होंने कहा, “कोविड-19 काल में हमारे पत्रकार अपनी जान जोखिम में डालकर कर्तव्यों का निर्वहन कर रहे हैं…हम उनका पूरा ध्यान रखेंगे और उनकी पूरी चिंता की जाएगी।”

COVID-19 महामारी के बीच, मध्य प्रदेश ने सोमवार को राज्य सरकार से मान्यता प्राप्त मीडिया पेशेवरों को ‘ फ्रंटलाइन वर्कर्स ‘ घोषित कर दिया । घोषणा करते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि पत्रकार कोविड-19 महामारी के इस खतरनाक दौर के दौरान अपनी ड्यूटी करते हुए अपनी जान जोखिम में डाल रहे थे ।

“इसलिए, हमने सभी मान्यता प्राप्त पत्रकारों को मध्य प्रदेश में अग्रिम पंक्ति के कार्यकर्ता घोषित करने का फैसला किया है । चौहान ने मुख्यमंत्री कार्यालय के ट्विटर हैंडल पर पोस्ट किए गए एक वीडियो बयान में कहा, उनका ध्यान रखा जाएगा ।

 

Comments are closed.

Share This On Social Media!