बरेली (उत्तर प्रदेश) ज़िले के नवाबगंज से बीजेपी विधायक केसर सिंह (64) की बुधवार को नोएडा के एक अस्पताल में मौत हो गई। बतौर खबर, उनके परिवार ने बताया कि वह कुछ दिन पहले कोविड-19 से संक्रमित पाए गए थे। वहीं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और विधानसभा के अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित ने विधायक के निधन पर शोक जताया।

भाजपा के नवाबगंज विधायक केसर सिंह गंगवार (64) का बुधवार को नोएडा के सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल में कॉविड-19 से निधन हो गया।लखनऊ (पश्चिम) के विधायक सुरेश श्रीवास्तव और औरैया के विधायक रमेश चंद्र दिवाकर का बीते शुक्रवार को महामारी के दूसरे घातक रन के बीच निधन हो गया।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, प्रदेश भाजपा प्रमुख स्वतंत्र देव सिंह और डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने गंगवार के निधन पर दुख जताते हुए कहा कि उनकी मौत से पार्टी को बड़ा झटका लगा है।गंगवार एक सप्ताह के भीतर वायरस का शिकार होने वाले सत्तारूढ़ दल के तीसरे विधायक थे ।पिछले साल महामारी की पहली लहर के दौरान यूपी के दो मंत्रियों चेतन चौहान और कमल रानी वरुण-नौगांव सादात और घाटमपुर के विधायकों की क्रमशः कोविड जटिलताओं से मौत हो गई थी ।
18 अप्रैल को पॉजिटिव टेस्ट करने के बाद गंगवार को बरेली के राम मूर्ति मेडिकल कॉलेज ले जाया गया, जहां उसकी हालत बिगड़ गई।उनके बेटे विशाल ने भी इलाज की गुणवत्ता को लेकर गुस्से का इजहार करने के लिए सोशल मीडिया पर ले लिया ।
बाद में राज्य सरकार ने उन्हें नोएडा के एक निजी सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल में शिफ्ट कर दिया, जहां बुधवार को उनका निधन हो गया।

विधायक अपनी पत्नी, दो बेटियों और एक बेटे से बच रहे हैं। दो साल पहले उनके बड़े बेटे मुनींद्र का देहांत हो गया था।
सिंह पार्टी विरोधी गतिविधि के आरोप में 2016 में पार्टी प्रमुख मायावती द्वारा निष्कासित किए जाने से पहले बीएसपी के साथ थे।
बाद में वह बीजेपी में शामिल हो गए और 2017 के विधानसभा चुनाव में बरेली की नवाबगंज सीट से जीते।
केशर की भाभी उषा गंगवार बरेली जिला पंचायत की अध्यक्ष रह चुकी हैं।

यूपी में कोविड-19 से संक्रमित बीजेपी विधायक केसर सिंह की हुई मौत, सीएम ने जताया शोक

                                   

बरेली (उत्तर प्रदेश) ज़िले के नवाबगंज से बीजेपी विधायक केसर सिंह (64) की बुधवार को नोएडा के एक अस्पताल में मौत हो गई। बतौर खबर, उनके परिवार ने बताया कि वह कुछ दिन पहले कोविड-19 से संक्रमित पाए गए थे। वहीं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और विधानसभा के अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित ने विधायक के निधन पर शोक जताया।

भाजपा के नवाबगंज विधायक केसर सिंह गंगवार (64) का बुधवार को नोएडा के सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल में कॉविड-19 से निधन हो गया।लखनऊ (पश्चिम) के विधायक सुरेश श्रीवास्तव और औरैया के विधायक रमेश चंद्र दिवाकर का बीते शुक्रवार को महामारी के दूसरे घातक रन के बीच निधन हो गया।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, प्रदेश भाजपा प्रमुख स्वतंत्र देव सिंह और डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने गंगवार के निधन पर दुख जताते हुए कहा कि उनकी मौत से पार्टी को बड़ा झटका लगा है।गंगवार एक सप्ताह के भीतर वायरस का शिकार होने वाले सत्तारूढ़ दल के तीसरे विधायक थे ।पिछले साल महामारी की पहली लहर के दौरान यूपी के दो मंत्रियों चेतन चौहान और कमल रानी वरुण-नौगांव सादात और घाटमपुर के विधायकों की क्रमशः कोविड जटिलताओं से मौत हो गई थी ।
18 अप्रैल को पॉजिटिव टेस्ट करने के बाद गंगवार को बरेली के राम मूर्ति मेडिकल कॉलेज ले जाया गया, जहां उसकी हालत बिगड़ गई।उनके बेटे विशाल ने भी इलाज की गुणवत्ता को लेकर गुस्से का इजहार करने के लिए सोशल मीडिया पर ले लिया ।
बाद में राज्य सरकार ने उन्हें नोएडा के एक निजी सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल में शिफ्ट कर दिया, जहां बुधवार को उनका निधन हो गया।

विधायक अपनी पत्नी, दो बेटियों और एक बेटे से बच रहे हैं। दो साल पहले उनके बड़े बेटे मुनींद्र का देहांत हो गया था।
सिंह पार्टी विरोधी गतिविधि के आरोप में 2016 में पार्टी प्रमुख मायावती द्वारा निष्कासित किए जाने से पहले बीएसपी के साथ थे।
बाद में वह बीजेपी में शामिल हो गए और 2017 के विधानसभा चुनाव में बरेली की नवाबगंज सीट से जीते।
केशर की भाभी उषा गंगवार बरेली जिला पंचायत की अध्यक्ष रह चुकी हैं।

Comments are closed.

Share This On Social Media!