कोविड वैक्सीन की कमी को लेकर हर जगह अलग अलग के सवाल किए जा रहे हैं। साथ ही वैक्सीन को राजनीतिक मुद्दा के रूप में प्रयोग भी किया जा रहा है। वैक्सीन की कमी को लेकर विपक्ष राजनीतिक दलों द्वारा केन्द्र सरकार व बीजेपी पर निशाना साधा जा रहा है। और केंद्र सरकार पर जुबानी हमला भी किया जा रहा है। साथ ही विपक्ष ने वैक्सीन को विदेशो ने भेजने पर भी सवाल खड़े किए। जिसके बाद बीजेपी की ओर से बिजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने सफाई पेश करते हुए कहा कि अपने देश के साथ हमारे पड़ोसियों को भी सुरक्षित रखना हमारी जिम्मेदारी है। और विदेशों में कुल दो श्रेणीयों में वैक्सीन भेजा गया है जिसमे पहली श्रेणी तकरीबन 1 करोड़ मदद के तौर पर बाकी के 5 करोड़ से ज्यादा वैक्सीन कमर्शियल लायबिलिटी के रूप में भेजा गया है।
आपको बता दे कि भारत से अबतक कुल 6.6 करोड़ वेक्सीन विदेशों में भेजे गए हैं।
साथ ही संबित पात्रा ने कहा कि आम आदमी पार्टी के नेता और कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गाँधी द्वारा अफवाह फैलाया जा रहा है। अबतक हमने पड़ोसी देशों को 78.5 लाख वैक्सीन डोज मदद के रूप में भेजे हैं बचे हुए 2 लाख डोज यूनाइटेड नेशंस के पीस कीपिंग फ़ोर्स को मिला है।

बीते दिन अरविंद केजरीवाल द्वारा प्रेस कांफ्रेंस में वैक्सीन फार्मूला को खोलने को लेकर कहा कि वैक्सीन के लिए लाइसेंस लेना बहुत हीं कठिन है। कोविशिल्ड का लाइसेंस एस्ट्राजेनेका के पास है और कोवैक्सीन का लाइसेंस भारत के पास है लेकिन दूसरी कंपनी से इसका निर्माण हो पाना मुश्किल है क्योंकि इसका निर्माण अलग तरीके से किया गया है।

वैक्सीन को लेकर विपक्ष से किये जा रहे हमले को लेकर बीजेपी की ओर से सफाई।

                                   

कोविड वैक्सीन की कमी को लेकर हर जगह अलग अलग के सवाल किए जा रहे हैं। साथ ही वैक्सीन को राजनीतिक मुद्दा के रूप में प्रयोग भी किया जा रहा है। वैक्सीन की कमी को लेकर विपक्ष राजनीतिक दलों द्वारा केन्द्र सरकार व बीजेपी पर निशाना साधा जा रहा है। और केंद्र सरकार पर जुबानी हमला भी किया जा रहा है। साथ ही विपक्ष ने वैक्सीन को विदेशो ने भेजने पर भी सवाल खड़े किए। जिसके बाद बीजेपी की ओर से बिजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने सफाई पेश करते हुए कहा कि अपने देश के साथ हमारे पड़ोसियों को भी सुरक्षित रखना हमारी जिम्मेदारी है। और विदेशों में कुल दो श्रेणीयों में वैक्सीन भेजा गया है जिसमे पहली श्रेणी तकरीबन 1 करोड़ मदद के तौर पर बाकी के 5 करोड़ से ज्यादा वैक्सीन कमर्शियल लायबिलिटी के रूप में भेजा गया है।
आपको बता दे कि भारत से अबतक कुल 6.6 करोड़ वेक्सीन विदेशों में भेजे गए हैं।
साथ ही संबित पात्रा ने कहा कि आम आदमी पार्टी के नेता और कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गाँधी द्वारा अफवाह फैलाया जा रहा है। अबतक हमने पड़ोसी देशों को 78.5 लाख वैक्सीन डोज मदद के रूप में भेजे हैं बचे हुए 2 लाख डोज यूनाइटेड नेशंस के पीस कीपिंग फ़ोर्स को मिला है।

बीते दिन अरविंद केजरीवाल द्वारा प्रेस कांफ्रेंस में वैक्सीन फार्मूला को खोलने को लेकर कहा कि वैक्सीन के लिए लाइसेंस लेना बहुत हीं कठिन है। कोविशिल्ड का लाइसेंस एस्ट्राजेनेका के पास है और कोवैक्सीन का लाइसेंस भारत के पास है लेकिन दूसरी कंपनी से इसका निर्माण हो पाना मुश्किल है क्योंकि इसका निर्माण अलग तरीके से किया गया है।

Comments are closed.

Share This On Social Media!