20 मई के अंदर में आयोग ने इंदौर के डीआईजी से प्रतिवेदन देने का आदेश दिया है।

इंदौर के आज़ाद नगर थाने से एक संगीन मामला सामने आया है जिसमे एक आरोपी को पिछले 72 घंटे से नियम विरुद्ध बंद करने, मारपीट करने व उसके परिजनों से रिश्वत में 1 लाख रूपये की मांग किए जाने पर आयोग ने खबर ली है। इंदौर की एक समाजसेविका द्वारा आयोग को एक वीडियो क्लिप व पीड़ित के फोटो एवं समाचार भी निकाला था। जिसके आधार पर आयोग ने आगे की कार्यवाही पर ज़ोर दिया। आयोग ने उप पुलिस महानिरीक्षक (शहर ), इंदौर को 20 मई 2021 तक प्रतिवेदन देने को कहा है। जिसके बाद आयोग के ओर से यह आदेश किया गया है कि इस मामले की जाँच किसी जिम्मेदार अधिकारी के नेतृत्व में करवा कर उसका तथ्यात्मक प्रतिवेदन भेजने के लिये कहा है।

थाने में अवैध रूप से निरूद्ध रखने व मारपीट का मामला

                                   

20 मई के अंदर में आयोग ने इंदौर के डीआईजी से प्रतिवेदन देने का आदेश दिया है।

इंदौर के आज़ाद नगर थाने से एक संगीन मामला सामने आया है जिसमे एक आरोपी को पिछले 72 घंटे से नियम विरुद्ध बंद करने, मारपीट करने व उसके परिजनों से रिश्वत में 1 लाख रूपये की मांग किए जाने पर आयोग ने खबर ली है। इंदौर की एक समाजसेविका द्वारा आयोग को एक वीडियो क्लिप व पीड़ित के फोटो एवं समाचार भी निकाला था। जिसके आधार पर आयोग ने आगे की कार्यवाही पर ज़ोर दिया। आयोग ने उप पुलिस महानिरीक्षक (शहर ), इंदौर को 20 मई 2021 तक प्रतिवेदन देने को कहा है। जिसके बाद आयोग के ओर से यह आदेश किया गया है कि इस मामले की जाँच किसी जिम्मेदार अधिकारी के नेतृत्व में करवा कर उसका तथ्यात्मक प्रतिवेदन भेजने के लिये कहा है।

Comments are closed.

Share This On Social Media!