(करतार न्यूज़ प्रतिनिधि):-कोरोना से पीड़ित एक भारतीय कर्मचारी के लिए न्यूजीलैंड उच्चायोग ने शुरुआत के मई महीने में ट्वीटर कर जरिए ऑक्सिजन सिलेंडर की मदद मांगी थी। उस कर्मचारी का निधन दिल्ली के निजी अस्पताल में हो गया ।
न्यूजीलैंड के विदेश मंत्री नानैया महूता ने बताया कि भारतीय कर्मचारी की मौत दो सिन पहले अस्पताल में हो गयी। यह कर्मचारी उच्चायोग में 1986 से था जब सर एडमंड हिलेरी उच्चायुक्त थे।
जैसा कि तो सोच सकते हैं कि हमने अपने दूतावास कर लिए जितना हुआ उतना कुछ करने का सारा प्रयास किया। क्योंकि हमसभी लोग एक परिवार के तरह एक साथ रहते हैं इसलिए हमारे विचार और आरोह इस समय परिवार के साथ है।
साथ ही यह कहा कि किसी का जान जाना बेहद दुखद है और अब एमएफटी की इस वैश्विक महामारी की आकस्मिक परिस्थितियों में जो हो रहा है उससे सही करने के लिए समय चाहिय।
न्यूजीलैंड उच्चायोग द्वारा मदद मांगने के बाद यूथ कांग्रेस अध्यक्ष श्रीनिवास ने तुरंत जवाब दिया था और ट्वीट किया कि हम ऑक्सिजन सिलेंडर लेकर पहुचेंगे आप अपना दरवाजा खोलो और समय पर आत्मा को बचाओ

जिस भारतीय कर्मचारी के लिए ऑक्सीजन माँग गया, उसकी हुई मौत

                                   

(करतार न्यूज़ प्रतिनिधि):-कोरोना से पीड़ित एक भारतीय कर्मचारी के लिए न्यूजीलैंड उच्चायोग ने शुरुआत के मई महीने में ट्वीटर कर जरिए ऑक्सिजन सिलेंडर की मदद मांगी थी। उस कर्मचारी का निधन दिल्ली के निजी अस्पताल में हो गया ।
न्यूजीलैंड के विदेश मंत्री नानैया महूता ने बताया कि भारतीय कर्मचारी की मौत दो सिन पहले अस्पताल में हो गयी। यह कर्मचारी उच्चायोग में 1986 से था जब सर एडमंड हिलेरी उच्चायुक्त थे।
जैसा कि तो सोच सकते हैं कि हमने अपने दूतावास कर लिए जितना हुआ उतना कुछ करने का सारा प्रयास किया। क्योंकि हमसभी लोग एक परिवार के तरह एक साथ रहते हैं इसलिए हमारे विचार और आरोह इस समय परिवार के साथ है।
साथ ही यह कहा कि किसी का जान जाना बेहद दुखद है और अब एमएफटी की इस वैश्विक महामारी की आकस्मिक परिस्थितियों में जो हो रहा है उससे सही करने के लिए समय चाहिय।
न्यूजीलैंड उच्चायोग द्वारा मदद मांगने के बाद यूथ कांग्रेस अध्यक्ष श्रीनिवास ने तुरंत जवाब दिया था और ट्वीट किया कि हम ऑक्सिजन सिलेंडर लेकर पहुचेंगे आप अपना दरवाजा खोलो और समय पर आत्मा को बचाओ

Comments are closed.

Share This On Social Media!