भोपाल ( करतार न्यूज़ प्रतिनिधि ): मध्य प्रदेश के भोपाल में एक सरकारी अस्पताल में एक कॉविड-19 मरीज के साथ कथित तौर पर बलात्कार किया गया, पुलिस ने गुरुवार को यह बात कही । महिला ने 24 घंटे के भीतर अंतिम सांस ली। 43 वर्षीय महिला का 6 अप्रैल को भोपाल मेमोरियल हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर में इलाज चल रहा था।

महिला ने घटना की शिकायत की और इसके तुरंत बाद उसकी हालत बिगड़ गई। महिला ने एक डॉक्टर को दिए बयान में आरोपी का नाम लिया। उसकी पहचान संतोष अहिरवार के रूप में हुई।

महिला की तबीयत बिगड़ने पर वेंटिलेटर पर शिफ्ट किया गया था

सूत्रों के अनुसार महिला की हालत बिगड़ने पर उसे वेंटिलेटर पर शिफ्ट कर दिया गया। उसी शाम उसने अंतिम सांस ली। इसके बाद महिला ने डॉक्टर को अपनी अग्निपरीक्षा सुनाई तो निशातपुरा थाने में मामला दर्ज कराया गया।

वरिष्ठ पुलिस अधिकारी इरशाद वली ने बताया कि महिला ने पुलिस को एक आवेदन सौंपा, जिसमें अनुरोध किया गया कि उसकी पहचान सुरक्षित हो और घटना का किसी को पता न चले। वली ने आगे कहा, यही वजह है कि जांच टीम के अलावा किसी के साथ जानकारी साझा नहीं की गई ।

कथित तौर पर महिला के साथ 24 वर्षीय पुरुष नर्स ने कथित तौर पर बलात्कार किया था । पूर्व में ड्यूटी पर शराब पीने के आरोपी को निलंबित कर दिया गया था।

मृतक 1984 भोपाल गैस त्रासदी उत्तरजीवी था

यह महिला 1984 की भोपाल गैस त्रासदी की उत्तरजीवी भी थी। उसकी मौत के बाद आपदा पीड़ितों के संघ ने भोपाल मेमोरियल अस्पताल अनुसंधान केंद्र (बीएमएचआरसी) में “कोविड वार्डों की दयनीय स्थिति” को हरी झंडी दिखाते हुए अधिकारियों को एक मजबूत पत्र लिखा है ।

Image Source: Google Images

अस्पताल में पुरुष नर्स ने कोविड-19 मरीज़ का किया रेप; महिला की 24 घंटे में हुई मौत’

                                   

भोपाल ( करतार न्यूज़ प्रतिनिधि ): मध्य प्रदेश के भोपाल में एक सरकारी अस्पताल में एक कॉविड-19 मरीज के साथ कथित तौर पर बलात्कार किया गया, पुलिस ने गुरुवार को यह बात कही । महिला ने 24 घंटे के भीतर अंतिम सांस ली। 43 वर्षीय महिला का 6 अप्रैल को भोपाल मेमोरियल हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर में इलाज चल रहा था।

महिला ने घटना की शिकायत की और इसके तुरंत बाद उसकी हालत बिगड़ गई। महिला ने एक डॉक्टर को दिए बयान में आरोपी का नाम लिया। उसकी पहचान संतोष अहिरवार के रूप में हुई।

महिला की तबीयत बिगड़ने पर वेंटिलेटर पर शिफ्ट किया गया था

सूत्रों के अनुसार महिला की हालत बिगड़ने पर उसे वेंटिलेटर पर शिफ्ट कर दिया गया। उसी शाम उसने अंतिम सांस ली। इसके बाद महिला ने डॉक्टर को अपनी अग्निपरीक्षा सुनाई तो निशातपुरा थाने में मामला दर्ज कराया गया।

वरिष्ठ पुलिस अधिकारी इरशाद वली ने बताया कि महिला ने पुलिस को एक आवेदन सौंपा, जिसमें अनुरोध किया गया कि उसकी पहचान सुरक्षित हो और घटना का किसी को पता न चले। वली ने आगे कहा, यही वजह है कि जांच टीम के अलावा किसी के साथ जानकारी साझा नहीं की गई ।

कथित तौर पर महिला के साथ 24 वर्षीय पुरुष नर्स ने कथित तौर पर बलात्कार किया था । पूर्व में ड्यूटी पर शराब पीने के आरोपी को निलंबित कर दिया गया था।

मृतक 1984 भोपाल गैस त्रासदी उत्तरजीवी था

यह महिला 1984 की भोपाल गैस त्रासदी की उत्तरजीवी भी थी। उसकी मौत के बाद आपदा पीड़ितों के संघ ने भोपाल मेमोरियल अस्पताल अनुसंधान केंद्र (बीएमएचआरसी) में “कोविड वार्डों की दयनीय स्थिति” को हरी झंडी दिखाते हुए अधिकारियों को एक मजबूत पत्र लिखा है ।

Image Source: Google Images

Comments are closed.

Share This On Social Media!