जाप के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व सांसद पप्पू यादव की बीते दिनों लॉकडाउन का उल्लंघन करने के जुर्म में 11 मई मंगलवार को गिरफ्तारी की गई थी। जिसके बाद पप्पू यादव ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के ऊपर साजिश रचने का आरोप लगाया था लेकिन देखने को यह मिल रहा है कि जदयू के कई नेता ऐसे हैं जो नीतीश कुमार के करीबी तो हैं लेकिन इस वक़्त पप्पू यादव के साथ खड़े होकर उनके रिहा करने की माँग कर रहे हैं।
बेगूसराय के पूर्व सांसद जो नीतीश कुमार के करीबी में गिने जाने वाले नेता मोनाजिर हसन ने कहा कि इस संकट में पप्पू यादव गरीब लोगों के लिए मशीहा का काम कर रहे हैं, उनकी गिरफ्तारी की निंदा जितनी करे उतनी कम होगी।
गिरफ्तारी अगर होनी भी चाहिय तो छपरा डीएम राजीव प्रताप रूडी की होनी चाहिये वहीं संदेश पूर्व विधायक विजेंद्र यादव ने पप्पू यादव की गिरफ्तारी को गलत बताते हुए कहा कि राजीव प्रताप रूडी को एक मिनट भी संसद रहने का हक नहीं है वहीं एम्बुलेंस प्रकरण की जांच कर डीएम व सांसद बर्खास्त किया जाए।
वही कहा कि सरकार को पप्पू यादव को मानवता के आधार पर रिहा करना चाहिए।

पप्पू यादव के गिरफ्तारी के खिलाफ में खड़े हुए जेडीयू नेता

                                   

जाप के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व सांसद पप्पू यादव की बीते दिनों लॉकडाउन का उल्लंघन करने के जुर्म में 11 मई मंगलवार को गिरफ्तारी की गई थी। जिसके बाद पप्पू यादव ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के ऊपर साजिश रचने का आरोप लगाया था लेकिन देखने को यह मिल रहा है कि जदयू के कई नेता ऐसे हैं जो नीतीश कुमार के करीबी तो हैं लेकिन इस वक़्त पप्पू यादव के साथ खड़े होकर उनके रिहा करने की माँग कर रहे हैं।
बेगूसराय के पूर्व सांसद जो नीतीश कुमार के करीबी में गिने जाने वाले नेता मोनाजिर हसन ने कहा कि इस संकट में पप्पू यादव गरीब लोगों के लिए मशीहा का काम कर रहे हैं, उनकी गिरफ्तारी की निंदा जितनी करे उतनी कम होगी।
गिरफ्तारी अगर होनी भी चाहिय तो छपरा डीएम राजीव प्रताप रूडी की होनी चाहिये वहीं संदेश पूर्व विधायक विजेंद्र यादव ने पप्पू यादव की गिरफ्तारी को गलत बताते हुए कहा कि राजीव प्रताप रूडी को एक मिनट भी संसद रहने का हक नहीं है वहीं एम्बुलेंस प्रकरण की जांच कर डीएम व सांसद बर्खास्त किया जाए।
वही कहा कि सरकार को पप्पू यादव को मानवता के आधार पर रिहा करना चाहिए।

Comments are closed.

Share This On Social Media!