नई दिल्ली(करतार न्यूज़ प्रतिनिधि):- कोरोना के कहर का मार पूरा देश झेल रहा है इसी बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा फोन करके सभी राज्यि5के स्थिति का जांच पड़ताल करने और जानकारी प्राप्त करने का सिलसिला भी जारी है। इस सिलसिले में आज रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 4 राज्यों में फोन किया और मुख्यमंत्री से बातचीत करके उनके राज्यों की स्थिति से रूबरू हुए।
प्रधानमंत्री ने राजस्थान, उत्तर प्रदेश, पुडुचेरी और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री को फोन किए। उनके राज्य के स्तिथि जानने के बाद सभी प्रकार से मदद करने का आश्वासन भी दिया।

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री से क्या हुई बात

पीएम मोदी ने बताया कि छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री से बातचीत के दौरान मुख्यमंत्री ने अपने राज्य में कोविड मरीजों की संख्या से लेकर मौत के आंकड़े की जानकारी दिया वही यह बताया कि राज्य में कोविड टेस्टिंग लगातार जारी है और कोविड से बचाव के दिये गए दिशा निर्देश के पालन से संक्रमण में कमी नजर आ रही है। ग्रामीण इलाकों में चिकित्सा टीम को तैनात किया गया है और अस्पतालों में हो रही बेड और ऑक्सिजन की कमी को लेकर उसकी उपलब्धता के विषय मे विचार किया जा रहा है।

प्रधानमंत्री मोदी ने चार राज्यों के मुख्यमंत्री से बातचीत करके लिए राज्य का जायजा।

                                   

नई दिल्ली(करतार न्यूज़ प्रतिनिधि):- कोरोना के कहर का मार पूरा देश झेल रहा है इसी बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा फोन करके सभी राज्यि5के स्थिति का जांच पड़ताल करने और जानकारी प्राप्त करने का सिलसिला भी जारी है। इस सिलसिले में आज रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 4 राज्यों में फोन किया और मुख्यमंत्री से बातचीत करके उनके राज्यों की स्थिति से रूबरू हुए।
प्रधानमंत्री ने राजस्थान, उत्तर प्रदेश, पुडुचेरी और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री को फोन किए। उनके राज्य के स्तिथि जानने के बाद सभी प्रकार से मदद करने का आश्वासन भी दिया।

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री से क्या हुई बात

पीएम मोदी ने बताया कि छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री से बातचीत के दौरान मुख्यमंत्री ने अपने राज्य में कोविड मरीजों की संख्या से लेकर मौत के आंकड़े की जानकारी दिया वही यह बताया कि राज्य में कोविड टेस्टिंग लगातार जारी है और कोविड से बचाव के दिये गए दिशा निर्देश के पालन से संक्रमण में कमी नजर आ रही है। ग्रामीण इलाकों में चिकित्सा टीम को तैनात किया गया है और अस्पतालों में हो रही बेड और ऑक्सिजन की कमी को लेकर उसकी उपलब्धता के विषय मे विचार किया जा रहा है।

Comments are closed.

Share This On Social Media!