इस वक़्त भारत अभी दोहरी मार झेल रहा है। एक तरफ कोरोना के दूसरे लहर से परेशानी हो रही है वही कोविड टीकाकरण की कमी को लेकर दिक्कतें सामने आ रही हैं। तो वहीं दूसरी ओर मौसम विभाग के तरफ से रेड अलर्ट जारी किया गया है। मौसम विभाग के अनुसार चक्रवाती तूफान आने की संभावना है। इस तूफान को “तौकते” कहा जा रहा है। यह तूफान 15 मई से 18 मई के बीच मे आएगी। जिसमें तूफानी हवा के साथ बारिश होगी जिसके कारण समुद्री लहरें भी काफी तेज होंगी। यह तूफान गुजरात के साथ महाराष्ट्र को भी प्रभावित करेगी। मौसम विभाग के द्वारा रेड अलर्ट जारी किया गया जिसमें मछुआरों को समुद्र में जाने से मना किया गया है।
वहीं NDRF ने इस तूफान से बचने के लिए 53 दल तैयार किया गया है जिसमें से 23 दल को तैयार कर दिया गया है।
जिसका जायजा लेने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वर्चुअल माध्यम से समीक्षा बैठक किये जिसमे इस आपदा से उबरने के लिए बाते की गई। इस बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ कई मंत्री व NDRF के टीम मेम्बर्स मौजूद रहे।

Source:- google

पीएम मोदी ने चक्रवात तौकते और कोरोना को लेकर किये समीक्षा बैठक।

                                   

इस वक़्त भारत अभी दोहरी मार झेल रहा है। एक तरफ कोरोना के दूसरे लहर से परेशानी हो रही है वही कोविड टीकाकरण की कमी को लेकर दिक्कतें सामने आ रही हैं। तो वहीं दूसरी ओर मौसम विभाग के तरफ से रेड अलर्ट जारी किया गया है। मौसम विभाग के अनुसार चक्रवाती तूफान आने की संभावना है। इस तूफान को “तौकते” कहा जा रहा है। यह तूफान 15 मई से 18 मई के बीच मे आएगी। जिसमें तूफानी हवा के साथ बारिश होगी जिसके कारण समुद्री लहरें भी काफी तेज होंगी। यह तूफान गुजरात के साथ महाराष्ट्र को भी प्रभावित करेगी। मौसम विभाग के द्वारा रेड अलर्ट जारी किया गया जिसमें मछुआरों को समुद्र में जाने से मना किया गया है।
वहीं NDRF ने इस तूफान से बचने के लिए 53 दल तैयार किया गया है जिसमें से 23 दल को तैयार कर दिया गया है।
जिसका जायजा लेने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वर्चुअल माध्यम से समीक्षा बैठक किये जिसमे इस आपदा से उबरने के लिए बाते की गई। इस बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ कई मंत्री व NDRF के टीम मेम्बर्स मौजूद रहे।

Source:- google

Comments are closed.

Share This On Social Media!