Last updated on May 13th, 2021 at 10:17 am

अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन के ऊपर अपहरण हत्या समेत 70 से भी ज्यादा केस दर्ज है। मुंबई के सीनियर पत्रकार ज्योतिमर्य दे की हत्या का भी दोषी है। तिहाड़ जेल में रहने के बाद वह कोरोना से संक्रमित हो गया था जिसके कारण उसे दिल्ली एम्स में 22 अप्रैल को भर्त्ती कराया गया था। और उसके इलाज के दौरान यह अफवाह जमकर उड़ा था कि उसकी मौत हो गई है जिसके बाद तिहाड़ जेल प्रशासन द्वारा खंडन जारी किया गया। लेकिन खबर यह है कि राजन से कोरोना हराकर जंग जीत गया है।
कोरोना को मात देकर ठीक होने के बाद उसे मंगलवार को एम्स से डिस्चार्ज करवाकर तिहाड़ के जेल के जेल नंबर 2 में कड़ी सुरक्षा में रखा गया है । गौरतलब है कि 61 साल का छोटा राजन मुम्बई में 1993 में हुए सिरिअल बम ब्लास्ट का भी अरोपी है। साल 2015 में राजन को इंडोनेशिया के बाली से लाकर तिहाड़ जेल में रखा गया था तब से वह इसी जेल में है।

अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन के मौत की खबर झूठी, एम्स से किया गया डिस्चार्ज।

                                   

Last updated on May 13th, 2021 at 10:17 am

अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन के ऊपर अपहरण हत्या समेत 70 से भी ज्यादा केस दर्ज है। मुंबई के सीनियर पत्रकार ज्योतिमर्य दे की हत्या का भी दोषी है। तिहाड़ जेल में रहने के बाद वह कोरोना से संक्रमित हो गया था जिसके कारण उसे दिल्ली एम्स में 22 अप्रैल को भर्त्ती कराया गया था। और उसके इलाज के दौरान यह अफवाह जमकर उड़ा था कि उसकी मौत हो गई है जिसके बाद तिहाड़ जेल प्रशासन द्वारा खंडन जारी किया गया। लेकिन खबर यह है कि राजन से कोरोना हराकर जंग जीत गया है।
कोरोना को मात देकर ठीक होने के बाद उसे मंगलवार को एम्स से डिस्चार्ज करवाकर तिहाड़ के जेल के जेल नंबर 2 में कड़ी सुरक्षा में रखा गया है । गौरतलब है कि 61 साल का छोटा राजन मुम्बई में 1993 में हुए सिरिअल बम ब्लास्ट का भी अरोपी है। साल 2015 में राजन को इंडोनेशिया के बाली से लाकर तिहाड़ जेल में रखा गया था तब से वह इसी जेल में है।

Comments are closed.

Share This On Social Media!